BIG NEWS : यमुना प्राधिकरण ने एमएसएमई, अपैरल पार्क, हैंडीक्राफ्ट और टॉय सिटी के लिए 700 भूखंड आवंटित किए, शुरू होंगे 63 स्टार्टअप

Updated Oct 09, 2020 21:52:45 IST | Anika Gupta

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के दायरे में दो दिन पहले जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण शुरू करने के लिए स्विट्जरलैंड की कंपनी से एग्रीमेंट...

BIG NEWS : यमुना प्राधिकरण ने एमएसएमई, अपैरल पार्क, हैंडीक्राफ्ट और टॉय सिटी के लिए 700 भूखंड आवंटित किए, शुरू होंगे 63 स्टार्टअप
Photo Credit:  Google Image
Dr Arunvir Singh IAS

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के दायरे में दो दिन पहले जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट का निर्माण शुरू करने के लिए स्विट्जरलैंड की कंपनी से एग्रीमेंट हुआ है। यहां जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के आने से उद्यमियों, कारोबारियों और निवेशकों में उत्साह है। शुक्रवार को विकास प्राधिकरण ने अपनी कई भूखंड योजनाओं के ड्रा निकाले हैं। यमुना प्राधिकरण ने शुक्रवार को एमएसएमई, अपैरल, हैंडीक्राफ्ट और टॉय सिटी के लिए भूखंडों का आवंटन कर दिया है। प्राधिकरण क्षेत्र में 700 लोगों को उद्योग लगाने के लिए रास्ता साफ हो गया। स्टार्टअप शुरू करने के लिए 63 लोगों को भूखंड आवंटित किए गए हैं। 

शुक्रवार को हुए आवंटन से करीब 5 लाख लोगों को रोजगार मिलने की उम्मीद है।बयमुना प्राधिकरण ने शुक्रवार को एमएसएमई, अपैरल, हैंडीक्राफ्ट और टॉय सिटी के लिए योजना निकाली थी। इन योजनाओं में 4000 मीटर से छोटे भूखंडों के लिये शुक्रवार को ड्रा निकाला गया। यह ड्रा सेक्टर पी-3 के सामुदायिक केंद्र में सुबह 10 बजे से निकाला गया। ड्रॉ के दौरान पर्यवेक्षक सेवानिवृत्त आईएएस टीएन सिंह और सेवानिवृत्त जज जेपी गुप्ता मौजूद रहे। इस पूरे आवंटन प्रक्रिया की वीडियोग्राफ़ी और फ़ोटोग्राफ़ी करायी गई। प्राधिकरण ने अपने फ़ेसबुक पेज पर लाइव प्रसारण किया। 

आयोजन के दौरान उपरोक्त चारों पार्क के प्रतिनिधि भी उपस्थित रहे। ड्रा प्राधिकरण के अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी रविंद्र सिंह की अध्यक्षता में गठित समिति की देखरेख में निकाला गया। इसमें ओएसडी शैलेंद्र भाटिया, ओएसडी नवनीत गोयल,  जीएम परियोजना और उद्योग केके सिंह,  जीएम फाइनेंस विशंभर बाबू, ऋतुराज व्यास, नीलम श्रीवास्तव,  हर्षवर्धन आदि मौजूद रहे।

किस श्रेणी में कितने आवंटन हुए

  • अपैरल पार्क योजना के अंतर्गत  500 वर्ग मीटर के 20, 1000 वर्ग मीटर के 17, 2000  वर्ग मीटर के 18, 3000 वर्ग मीटर का 01 और 4000 वर्ग मीटर के 5 भूखंडों का आवंटन  किया गया।
  • एमएसएमई योजना के अंतर्गत  450 वर्ग मीटर के 182, 595 वर्ग मीटर के 66, 1000 वर्ग मीटर के 128, 1800 वर्ग मीटर के 60, 3000 वर्ग मीटर के 28 भूखंडों का आवंटन किया गया है। 
  • इसी प्रकार हैंडीक्राफ्ट योजना योजना के अंतर्गत 450 वर्ग मीटर के 34, 595 वर्ग मीटर के 14, 1000 वर्ग मीटर के 11, 1800 वर्ग मीटर के 5 और 3000 वर्ग मीटर के 3 भूखंडों का आवंटन किया गया है। 
  • टॉय पार्क (खिलौना नगरी) योजना के अंतर्गत 1000 वर्ग मीटर के 76, 1800 वर्ग मीटर के 7, 1952 वर्ग मीटर के 19, 3000 वर्ग मीटर के 3 तथा 4000 वर्ग मीटर के 3 भूखंडों का आवंटन किया गया।

चारों योजनाओं में 2290 आवेदन आए थे

यमुना प्राधिकरण की इन योजनाओं में 63 स्टार्टअप के लिए भूखंड आवंटित किए गए। चारों योजनाओं में 2290 आवेदन आए थे। जबकि 700 भूखंड आवंटित किए जाने थे। ये भूखंड करीब 178 एकड़ में हैं। अब यमुना प्राधिकरण क्षेत्र में 63 स्टार्टअप शुरू होने का रास्ता साफ हो गया। यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के विशेष कार्य अधिकारी शैलेंद्र भाटिया ने कहा, "एमएसएमई, अपैरल, हैंडीक्राफ्ट और टॉय सिटी की योजना के भूखंडों का ड्रा निकाला गया। कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए ड्रा निकाला गया। 177.29 एकड़ जमीन आवंटित की गई।"

Dr Arunvir Singh IAS, Yamuna Authority, Yamuna City, Handicraft, Toy City, MSME, Apparel Park