यमुना प्राधिकरण के स्मार्ट विलेज देश में ग्रामीण विकास की नई नजीर पेश करेंगे, इन 30 गांवों की कायापलट होगी

Updated Jun 26, 2020 18:22:21 IST | Anika Gupta

जिस तरीके से प्राधिकरण औद्योगिक और आवासीय क्षेत्रों का विकास करते हैं, उस विकास की दौड में गांव स्लम बनकर....

यमुना प्राधिकरण के स्मार्ट विलेज देश में ग्रामीण विकास की नई नजीर पेश करेंगे, इन 30 गांवों की कायापलट होगी
Photo Credit:  Tricity Today
यमुना प्राधिकरण के स्मार्ट विलेज देश में ग्रामीण विकास की नई नजीर पेश करेंगे
Key Highlights
उत्तर प्रदेश की जेवर विधानसभा को मिला स्मार्ट विलेज विकसित करने का मौका
शुक्रवार को यमुना प्राधिकरण के सीईओ और विधायक ने योजना की शुरुआत की
पहले फेज में जेवर विधानसभा के ग्राम मिर्जापुर व निलौनी स्मार्ट विलेज बनेंगे

जिस तरीके से प्राधिकरण औद्योगिक और आवासीय क्षेत्रों का विकास करते हैं, उस विकास की दौड में गांव स्लम बनकर रह गये। प्राधिकरणों ने सेक्टरों का तो समूचित विकास किया, लेकिन उन गांवों को विकास और मूलभूत विकास की दौड़ से बाहर कर दिया, जिसमें रहने वाले किसानों की जमीनों पर बेहतरीन आवासीय क्षेत्र और गगनचुम्बी इमारतेें बनी हैं। इससे एक हीन भावना हमेशा ग्रामीण क्षेत्र के लोग महसूस करते रहे। अब पहली बार यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण इस गैर बराबरी और समस्या का समाधान करने जा रहा है।

दरअसल, जेवर के विधायक धीरेन्द्र सिंह कई वर्षों स्मार्ट विलेज प्रोजेक्ट पर काम कर रहे थे। धीरेन्द्र सिंह ने यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण में बैठकर ग्रामों को भी सेक्टरों की तर्ज पर मूलभुत सुविधाएं उपलब्ध कराने योजना बनवाई। शुक्रवार को यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ अरूणवीर सिंह और विधायक धीरेंद्र सिंह ने संयुक्त रूप से स्मार्ट विलेज प्रोजेक्ट की शुरुआत की है।

इन स्मार्ट गांवों में प्रथम चरण में लगभग 10 करोड़ रुपये की लागत से सीवरेज सिस्टम, ड्रैनेज सिस्टम, पेयजल आपूर्ति, स्ट्रीट सोलर लाईट और मार्गों का निर्माण होगा। दूसरे चरण में साॅलिड वेस्ट मैनेजमेंट, सामुदायिक भवन, हैल्थ सेंटर और ई-चौपाल जैसी अन्य सुविधाओं को विकसित किया जायेगा। लगभग 30 ग्रामों को चयनित किया गया है। जिसमें से गांव मिर्जापुर, रामपुर बांगर, निलौनी, अछेजा बुजुर्ग व डूंगरपुर रीलखा के लिए प्रोजेक्ट अवार्ड हो चुके हैं। 

शुक्रवार को विधिवत नारियल फोडकर गांव मिर्जापुर और निलौनी में विकास कार्यों का शुभारम्भ कराया गया। इस मौके पर जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा, "यह मेरे और जेवर विधानसभा के लिए बड़े सौभाग्य की बात कि हम बहुत दिनों से स्मार्ट सिटी के बारे में सुनते चल आये थे। लेकिन आज हमें फक्र और खुशी है कि हम जेवर विधानसभा क्षेत्र के मिर्जापुर व निलौनी गांव को देश के अन्य गांवों के विकास के लिए एक संदेश देने जा रहे हैं। ग्रामीणों को वह सभी मूलभुत सुविधाएं मिलें, जो शहरी क्षेत्र के लोगों को मिल रही हैं।" 

विधायक ने कहा, "इस कार्य के लिए यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण और उनकी पूरी टीम को मैं साधुवाद देता हूं। उन्होंने मेरे प्रस्ताव को स्वीकार करते हुए, भविष्य के स्मार्ट विलेज के मेरे सपने को साकार किया है।" 

यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अरूण वीर सिंह ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा, "यह जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह की मेहनत और विकास के प्रति उनकी संकल्प भावना का ही परिणाम है, जो आज हम स्मार्ट विलेज को धरातल पर उतार पाये हैं। हमारा पूरा प्रयास होगा कि गांव के लोग विकास की दौड में किसी से पीेछ न रहें। स्थानीय लोगों को भी यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण क्षेत्र के उद्योगों में 40 प्रतिशत रोजगार मिल सकें। ऐसे व्यवस्था भी की जा रही है।"

इस मौके पर ग्राम मिर्जापुर के देवेन्द्र सिंह, रामशरन सिंह, इन्दर सिंह प्रधान, देवराज सिंह और सुरेश शर्मा ने खुशी जताते हुए कहा, "हम कभी सोच भी नहीं सकते थे कि हमारे गांव स्मार्ट सिटी की तर्ज पर स्मार्ट गांव बनाये जायेंगे।’’ इस मौके पर यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के जनरल मैनेजर (परियोजना) केके सिंह, वरिष्ठ प्रबंधक विकास कुमार, वरिष्ठ प्रबंधक आनन्द मोहन, मैनेजर एके सक्सेना और बीडी शर्मा आदि लोग प्रमुख रूप से मौजूद रहे।  

इस मौके पर पूरन सिंह, विशम्बर सिंह, बाबू सिंह, मेघराज सिंह, रमेश सिंह, ओमी, चन्दर सिंह, विनोद सिंह, हरकेश प्रधान जी, राधे सिंह, महेश सिंह, नेपाल सिंह, मुकेश सिंह, प्रमोद सिंह व बंटी सिंह आदि लोग प्रमुख रूप से मौजूद रहे।

Yamuna Authority, Smart Village in Yamuna Authority, Yamuna City, Yamuna City News, CEO Arunveer Singh, CEO Dr Arunvir Singh, Dr Arunvir Singh IAS, MLA Dhirendra Singh, Jewar MLA