Covid-19 News: नोएडा में 5 महीने बाद सर्वाधिक मरीज मिले, डीएम की मैराथन बैठक जारी, गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर में लगेगा नाइट कर्फ्यू! पढ़ें जरूरी खबर

नोएडा में 5 महीने बाद सर्वाधिक मरीज मिले, डीएम की मैराथन बैठक जारी, गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर में लगेगा नाइट कर्फ्यू! पढ़ें जरूरी खबर

Google Image | गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर में लगेगा नाइट कर्फ्यू!

  • बुधवार की देर शाम जारी आंकड़ों के मुताबिक नए 125 संक्रमित मरीज मिले
  • इससे पहले नवंबर 2020 में 100 से ज्यादा मरीज सामने आए थे
  • नोएडा के सेक्टर-39 में स्थित कोविड-19 अस्पताल (Covid-19 Hospital) के आईसीयू बेड (ICU Bed) भर गए हैं
  • गौतमबुद्ध नगर में कोरोना वायरस वैक्सीन की कमी हो गई है
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, प्रयागराज समेत सभी बडेज शहरों में कोरोना वायरस के बढ़ते केस की वजह से नाइट कर्फ्यू (Night Curfew) लागू कर दी गई है। इसका असर गौतमबुद्ध नगर (Gautam Budhh Nagar) और गाजियाबाद (Ghaziabad) में भी दिखाई दे रहा है। इन दोनों जिलों में भी जिलाधिकारी (District Magistrate) वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक कर कोरोना महामारी से जुड़े आंकड़ों की समीक्षा कर रहे हैं। दोनों जनपदों में संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह माना जा रहा है कि यहां भी नाइट कर्फ्यू लागू किया जाएगा।

नोएडा में बढ़ी मुश्किल
गौतमबुद्ध नगर में बुधवार की देर शाम जारी आंकड़ों के मुताबिक नए 125 संक्रमित मरीज मिले। इससे पहले नवंबर 2020 में 100 से ज्यादा मरीज सामने आए थे। मरीजों की बढ़ती संख्या की वजह से नोएडा के सेक्टर-39 में स्थित कोविड-19 अस्पताल (Covid-19 Hospital) के आईसीयू बेड (ICU Bed) भर गए हैं। दूसरी आफत यह भी है कि गौतमबुद्ध नगर में कोरोना वायरस वैक्सीन की कमी हो गई है। पर्याप्त मात्रा में डोज उपलब्ध नहीं है। हालांकि अधिकारियों का कहना है कि वैक्सीन (Vaccine) जल्दी उपलब्ध हो जाएगी। टीकाकरण (Vaccination Program) उसी रफ्तार से जारी रहेगा। 

थोडी देर में होगा फाइनल
गाजियाबाद के डीएम अजय शंकर पांडे (Ajay Shankar Pandey) और गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई (DM Suhas LY IAS) गुरुवार सुबह से ही वरिष्ठ अधिकारियों के साथ लगातार बैठकें कर रहे हैं। इन बैठकों में कोरोना महामारी से जुड़े आंकड़ों की समीक्षा की जा रही है। साथ ही जनपदों में कोरोना के लिए जारी गाइडलाइंस के प्रभावी पालन को लेकर रणनीति बनाई जा रही है। लेकिन दोनों जिलों में महामारी विकराल होती जा रही है। इसकी वजह से नाइट कर्फ्यू पर विचार किया जा सकता है। 

पांच महीने बाद सर्वाधिक केस मिले
बताते चलें कि नोएडा में बुधवार की देर शाम तक 125 नए मरीजों की पुष्टि हुई थी। इन मरीजों की कांटेक्ट ट्रेसिंग की जा रही है। स्वास्थ्य विभाग की टीमें नोएडा और ग्रेटर नोएडा के कंटेनमेंट जोन में सक्रिय हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान 49 लोग स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौट गए हैं। अब तक 25,952 लोग इस महामारी से पार पा चुके हैं। जिले में संक्रमण की चपेट में आने के कारण 93 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी जिले के सरकारी और निजी अस्पतालों में 652 मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

गाजियाबाद में मिले 76 मरीज
गाजियाबाद जिले में बुधवार को कोरोना संक्रमण के 76 नए मामलों की पुष्टि हुई। 41 संक्रमित स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं। बुधवार को जारी रिपोर्ट क मुताबिक जिले में अब तक 27709 लोग कोरोना संक्रमण की चपेट में आ चुके हैं। इनमें से 27165 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि 102 मरीजों की मौत की पुष्टि की गई है। जनपद में 442 संक्रमितों का विभिन्न अस्पतालों और होम आइसोलेशन में इलाज चल रहा है।

यूपी के आंकड़े डराने वाले हैं
उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान 6,023 नए मरीज सामने आए हैं। इसी दौरान 1,484 लोग स्वस्थ होकर अपने घर वापस लौट गए हैं। पिछले 24 घंटों के दौरान 40 लोगों की इस महामारी के कारण मौत हो गई है। अभी राज्य के अस्पतालों में 31,987 मरीजों का इलाज किया जा रहा है। राज्य मुख्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक बुधवार को सबसे ज्यादा 6 मौत लखनऊ में हुई हैं। लखनऊ में पिछले 24 घंटों के दौरान 1,333 लोग बीमारी की चपेट में आए हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.