रामपुर की स्वार सीट से अपना दल ने उतारा उम्मीदवार, जानें ये विधानसभा सीट क्यों है खास

यूपी विधानसभा चुनाव 2022 : रामपुर की स्वार सीट से अपना दल ने उतारा उम्मीदवार, जानें ये विधानसभा सीट क्यों है खास

रामपुर की स्वार सीट से अपना दल ने उतारा उम्मीदवार, जानें ये विधानसभा सीट क्यों है खास

Google Image | उम्मीदवार अली हैदर खान

रामपुर की स्वार सीट से अपना दल ने उतारा उम्मीदवार, जानें ये विधानसभा सीट क्यों है खास Lucknow News : उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अब कुछ ही समय बचा है। आगामी 10 फरवरी से प्रदेश में प्रथम चरण के मतदान शुरू होंगे। इसके चलते राजनीतिक पार्टियां भी अपने-अपने उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारने में लगी हुई हैं। रविवार को भाजपा के सहयोगी अपना दल ने रामपुर की स्वार विधानसभा सीट से अली हैदर खान को उम्मीदवार बनाया है। बता दें कि 2017 में आजम खान के बेटे अब्दुल्लाह आजम ने यहां से जीत हासिल की थी।

बीजेपी को पहुंचाया शून्य से शिखर तक
2017 के विधानसभा चुनाव में प्रयागराज में भाजपा को शून्य से शिखर तक पहुंचाने वाले सहयोगी दल अपना दल (एस) ने इस बार चार सीटों पर अपनी दावेदारी ठोंक दी है। केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की पार्टी अपना दल एस ने बारा सीट पर कुर्मियों का जनाधार अधिक होने का दावा करते हुए इस सीट को भी अपने खाते में लेने के लिए जोर लगाना शुरू कर दिया है।

पिछले चुनाव में ये रहा था हाल
पिछली बार जो तीन सीटें अद एस को मिली थीं, उनमें हंडिया विधानसभा सीट से पूर्व मंत्री राकेश धर त्रिपाठी की पत्नी प्रमिला त्रिपाठी को उम्मीदवार बनाया गया था, लेकिन वह 63 हजार वोट पाकर बसपा के हाकिम लाल से हार गई थीं। यहां अपना दल एस दूसरे नंबर पर था। इसी तरह प्रतापपुर विधान सभा सीट से अपना दल एस के करन सिंह बसपा के मोहम्मद मुजतबा सिद्दीकी से महज दो हटार मतों से पीछे रह गए थे। जबकि, सोरांव सीट पर अपना दल एस के जमुना प्रसाद ने बसपा की गीता देवी को हराकर इस सीट पर जीत दर्ज की थी।

2017 के विधान सभा चुनाव में जिले की 12 में से नौ सीटें जीतने वाले अपना दल एस-भाजपा गठबंधन को इस बार विजय रथ और आगे बढ़ने की उम्मीद है। ऐसे में सूबे में यादवों के बाद पिछड़ा वर्ग के दूसरी सबसे बड़ी आबादी वाले कुर्मी समाज का प्रतिनिधित्व करने वाली केंद्र में भाजपा की सहयोगी पार्टी अपना दल एस ने इस बार चार सीटों पर अपना दावा किया है।

14 फरवरी को होंगे मतदान
स्वार सीट पर मुस्लिम और दलित वोटर्स बड़ा फैक्टर रामपुर जिले की विधानसभा सीटों पर सभी की नजरें टिकी हुई हैं। रामपुर जिले में पांच विधानसभा सीट आती हैं और रामपुर में आजम खान का दबदबा रहा है। रामपुर की स्वार विधानसभा सीट पर सभी की नजरें हैं। यहां 14 फरवरी को वोटिंग और 10 मार्च को काउंटिंग है। इस सीट पर मुस्लिम और दलित वोटर्स को बड़ा फैक्टर माना जाता है। सभी पार्टियां उन्हें गोलबंद कर रही हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.