महोबा में निकली 166वीं ऐतिहासिक इमामी सवारी, डीएम और एसपी ने खिलाई जलेबी

खास खबर : महोबा में निकली 166वीं ऐतिहासिक इमामी सवारी, डीएम और एसपी ने खिलाई जलेबी

महोबा में निकली 166वीं ऐतिहासिक इमामी सवारी, डीएम और एसपी ने खिलाई जलेबी

Tricity Today | महोबा में निकली 166वीं ऐतिहासिक इमामी सवारी

महोबा में निकली 166वीं ऐतिहासिक इमामी सवारी, डीएम और एसपी ने खिलाई जलेबी Mahoba News : बुंदेलखंड के कश्मीर कहे जाने वाले चरखारी में हजरत इमाम हुसैन की सवारी ʺघोड़ाʺ का ऐतिहासिक और धार्मिक 166वां जुलूस ढोल नगाड़ों के साथ निकाला गया है। इस दौरान हिन्दु और मुस्लिम दोनों समुदाय के लोगों ने घोडे़ को दूध जलेबी खिलाई। इस दौरान हिन्दुओं ने सोने और चांदी के नीबू चढ़ाकर मिशाल कायम की है। रात 10 बजे से प्रारम्भ हुए इस जुलूस का सामापन सुबह 10 बजे हुआ। 

50 हजार से आधिक लोगों शामिल हुए
चरखारी नगर में हर साल मोहर्रम की 7 तारीख को निकलने वाला हजरत इमाम हुसैन की सवारी ʺघोड़ाʺ का जुलूस अकीदत के साथ निकाला गया। जिसमें उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश और अन्य प्रान्तों से आए हुए लगभग 50 हजार से आधिक लोगों ने शिरकत करते हुए जुलूस की रौनक बढ़ाई। 

जिलाधिकारी ने किया शुभारंभ 
जुलूस का शुभारम्भ जिलाधिकारी महोबा मनोज कुमार, पुलिस अधीक्षक सुधा सिंह और नगर पालिका अध्यक्ष मूलचन्द्र अनुरागी ने फातहा के बाद गजरा पहनाते हुए किया। पार्क पर जुलूस के शुभारम्भ के मौके पर फातहा के बाद जैसे ही इमाम चैक से घोड़ा बाहर निकला। वैसे ही भीड़ दूध और जलेबी खिलाने के लिए उमड़ पड़ी। जिन लोगों की मुराद पूरी हुई, उन्होंने सोने और चांदी के नीबू चढ़ाते हुए अकीदत पेश की। 

1857 से हुई शुरूआत
ऐतिहासिक जुलूस का शुभारम्भ 1857 मे तत्कालीन महाराजा रतन सिंह जू देव के शासनकाल में प्रारम्भ हुआ था। कोरोना काल में 2 वर्ष के अन्तराल के बाद इस बार अपार भीड़ देखने को मिली है।

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.