सनसनीखेज: प्रेमी से पति बने शख्स ने ली पत्नी की जान, फिल्मी अंदाज में रची हत्या की साजिश, जानकर हैरान रह जाएंगे

प्रेमी से पति बने शख्स ने ली पत्नी की जान, फिल्मी अंदाज में रची हत्या की साजिश, जानकर हैरान रह जाएंगे

Social Media | पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

उत्तर प्रदेश की भदोही जिला पुलिस ने सोमवार को एक हत्याकांड का खुलासा किया तो हर कोई हैरान रह गया। प्रेमी से पति बना शख्स परमेश्वर बनने के बजाय प्राण लेने पर उतारू हो गया था। आखिरकार उसने अपनी प्रेयसी से पत्नी बनी महिला की जान ले ली। जिसने भी इस इस घटना के बारे में सुना, चकित रह गया। जिले की कोइरौना इलाके में 20 फरवरी को जंगीगंज रेलवे स्टेशन के सामने दरवांसी इलाके में सरसों के खेत में एक महिला का शव मिला था। पुलिस को सुबह करीब 11 बजे इस बारे में सूचना मिली थी। महिला वाराणसी की रहने वाली थी। घटना के अगले दिन 21 फरवरी को मृतका के भाई ने अज्ञात के खिलाफ मामला पंजीकृत कराया था। 

हत्यारों को पकड़ने के लिए पुलिस अधीक्षक, भदोही ने क्राइम ब्रांच और कोइरौना थाना प्रभारी निरीक्षक को यथाशीघ्र दोषियों की पहचान कर गिरफ्तार करने का निर्देश दिया। सिर्फ दो दिन में ही पुलिस और क्राइम ब्रांच ने हत्यारों को पकड़ने में सफलता हासिल की है। महिला की हत्या किसी और ने नहीं, बल्कि प्रेमी से पति बन चुका पति निकला। वह बलिया के मनियर इलाके के भिखरिया गांव के का रहने वाला है। आरोपी धर्मेंद्र सीओडी में बतौर लांसनायक तैनात है। 

ससुर ने रची साजिश
उसका परिवार वाराणासी के न्यू दुर्गा कॉलोनी में रहता है। उसने अपने पिता की मिलीभगत और भाड़े के हत्यारों की मदद से पत्नी मिर्चका की हत्या कराई थी। इसके लिए बदमाशों को पचास हजार रुपए दिया गया। पुलिस ने घटना में शामिल चारों अभियुक्तों को नेवाजीपुर मोड़ के पास से गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपियों के पास से वारदात में प्रयुक्त दो चार पहिया वाहन, एक तमंचा 12 बोर और कुछ कारतूस बरामद हुए हैं। दोनों भाड़े के हत्यारों को  एडवांस के रूप में दिए गए नौ हजार रुपये तथा तीन मोबाइल फोन भी पुलिस ने बरामद किया।   

परिवार को नहीं था स्वीकार 
पूछताछ के दौरान गिरफ्तार धर्मेंद्र कुमार ने चौंकाने वाला खुलासा किया। उसने बताया कि वह मिर्चका से प्यार करता था। पिछले साल 14 फरवरी, 2020 को परिवार की रजामंदी के बगैर उन्होंने कोर्ट मैरिज कर लिया। लेकिन धर्मेंद्र के घर वालों को यह रिश्ता स्वीकार नहीं था। इसी वजह से वह  मिर्चका से पीछा छुड़ाना चाहता था। दरअसल वह दूसरी जाति की थी। उसका जन्म सरोज परिवार में हुआ था। इसी वजह से उसने कई बार तलाक के लिए कहा, मगर वह तैयार नहीं हुई । उसके बाद धर्मेंद्र के पिता उमाशंकर ने नियाज, निवासी इस्लामपुर से बात कर बहू की हत्या के लिए 50 हजार की सुपारी तय की। उसने  नियाज को एडवांस में दस हजार रुपये भी दे दिए। 

योजना बनाकर दिया अंजाम
योजना के मुताबिक गत 19 फरवरी  को रात करीब साढ़े दस बजे धर्मेंद्र पत्नी के साथ अपनी चार पहिया वाहन से वाराणसी से कानपुर के लिए निकला। मोहनसराय के करीब पहुंचकर उन्होंने पांडे ढाबा के पास मिलने की योजना बनाई। वह पांडेय ढाबा के पास पहुंचा, तो नियाज़ वहां पहले से मौजूद था। उसने अपने एक अन्य साथी रसीद के साथ अपनी टवेरा गाड़ी से आगे बढ़ने के लिए इशारा किया। धर्मेंद्र अपनी गाड़ी से धीरे-धीरे आगे बढ़ने लगा। नियाज अपने साथी के साथ अपनी गाड़ी से उसकी गाड़ी के पीछे चल रहा था। कुछ दूर चलने के बाद सुनसान जगह देखकर धर्मेंद्र ने अपनी गाड़ी रोक दी और शौच करने का बहाना कर गाड़ी से कुछ दूरी पर चला गया। 

आखिरी सांस तक लड़ती रही
जब धर्मेंद्र बाहर गया, उस वक्त उसकी पत्नी कार में अकेली थी। तभी नियाज और रसीद दोनों उसकी गाड़ी के पास आकर योजना के मुताबिक मृतका का रस्सी से गला दबाने लगे। बचाव करते हुए उसने नियाज की अंगुली में दांत से काट लिया। नियाज की पकड़ कमजोर होते देख उसने भी पत्नी के दोनों हाथ मजबूती से पकड़ लिये और तभी रस्सी से गला कस दिया। इससे उसकी मौत हो गई। मिर्चका की मौत के बाद तीनों आरोपी लाश को रेलवे स्टेशन के सामने सरसों के खेत में फेंक कर चले गये।

पुलिस अधीक्षक ने दिया इनाम        
भदोही पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि घटना के तीन दिन के भीतर ही चारों अभियुक्तों को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस अधीक्षक ने घटना में शामिल क्राइम ब्रांच व कोइरौना पुलिस टीम को हत्या का खुलासा करने पर 10 हजार रुपये के इनाम की घोषणा की। सिर्फ दो दिन में हत्या की गुत्थी सुलझाने वाली टीम में प्रभारी विजय प्रताप सिंह, कॉन्स्टेबल सर्वेश राय, नरेंद्र सिंह, कॉन्स्टेबल तुफैल अहमद, नागेंद्र यादव, दीपक यादव, नीरज यादव और सुनील कनौजिया, कोइरौना के प्रभारी निरीक्षक खुर्शीद अंसारी, ज्ञानेंद्र प्रताप सिंह और सुनील वर्मा शामिल थे।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.