दो सप्ताह में बदली यूपी की तस्वीर, आज सिर्फ 10 हजार मामले मिले, महामारी को मात देने वालों की संख्या बढ़ी, पढ़ें रिपोर्ट

कोरोना से जंग: दो सप्ताह में बदली यूपी की तस्वीर, आज सिर्फ 10 हजार मामले मिले, महामारी को मात देने वालों की संख्या बढ़ी, पढ़ें रिपोर्ट

दो सप्ताह में बदली यूपी की तस्वीर, आज सिर्फ 10 हजार मामले मिले, महामारी को मात देने वालों की संख्या बढ़ी, पढ़ें रिपोर्ट

Tricity Today | अफसरों संग बैठक करते सीएम योगी

दो सप्ताह में बदली यूपी की तस्वीर, आज सिर्फ 10 हजार मामले मिले, महामारी को मात देने वालों की संख्या बढ़ी, पढ़ें रिपोर्ट
  • यूपी में कोरोना वायरस संक्रमण के 10682 नए मरीज मिले हैं
  • पिछले 24 घंटे में इससे करीब ढाई गुना, 24837 संक्रमित महामारी को मात देकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हुए हैं
  • शनिवार को सूबे में कुल 267420 नागरिकों का कोविड टेस्ट किया गया था
  • अब राज्य में कोरोना वायरस से रिकवरी रेट बढ़कर 87.9 प्रतिशत हो गया है
कोरोना वायरस महामारी के कहर से तबाह उत्तर प्रदेश में अब हालात बदलने लगे हैं। पिछले 3 हफ्तों में यूपी में कोरोना की रोकथाम के लिए लागू किए गए सभी फैसलों का सकारात्मक असर दिखाई देने लगा है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने इस पर संतुष्टि जताई है। प्रभावी निर्णयों की वजह से न सिर्फ नए मरीजों की संख्या में भारी कमी आई है, बल्कि सक्रिय मामलों में भी बड़े स्तर पर सुधार हुआ है। साथ ही रिकवरी रेट में उछाल आया है। रविवार की सुबह जारी रिपोर्ट के मुताबिक यूपी में कोरोना वायरस संक्रमण के 10682 नए मरीज मिले हैं। 

पिछले 24 घंटे में इससे करीब ढाई गुना, 24837 संक्रमित महामारी को मात देकर अस्पतालों से डिस्चार्ज हुए हैं। प्रदेश में होम आइसोलेशन में इस वक्त 148158 कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जा रहा है। राज्य सरकार का कहना है कि कम टेस्टिंग की अफवाहें निराधार हैं। शनिवार को ही सूबे में कुल 267420 नागरिकों का कोविड टेस्ट किया गया था। देश के किसी अन्य राज्य के मुकाबले यह सर्वाधिक है। अब तक 4 करोड़ 44 लाख 27 हजार 447 कोविड-19 की जांच के साथ यूपी देश में सर्वाधिक कोविड टेस्ट करने वाला राज्य बन गया है।

सिर्फ दो हफ्ते में बदले हालात 
उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस महामारी को फैलने से रोकने के लिए नाइट/वीकेंड कर्फ्यू से शुरुआत हुई। फिर राज्य में आंशिक लॉकडाउन लगाया गया। अब तक चार बार लॉकडाउन को बढ़ाया गया है। प्रदेश में 24 मई, सोमवार की सुबह 7:00 बजे तक लॉकडाउन लागू है। इसका सकारात्मक असर दिखाई दे रहा है। अप्रैल के आखिरी 3 हफ्तों में बिगड़े हालात अब धीरे-धीरे सामान्य होने लगे हैं। मई महीने के 2 हफ्तों में प्रदेश में सक्रिय मरीजों की संख्या में भारी कमी आई है। 30 अप्रैल को सूबे में कोरोना सक्रिय मरीजों की संख्या 310784 थी। जबकि शनिवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक 15 मई को सक्रिय मरीजों की संख्या सिर्फ 177643 रह गई। इन 15 दिनों में प्रदेश में एक्टिव केस के मामले में 133141 की कमी आई है। इसका फायदा रिकवरी रेट पर भी पड़ा है। अब राज्य में कोरोना वायरस से रिकवरी रेट बढ़कर 87.9 प्रतिशत हो गया है।

5 अन्य जनपदों में शुरू होगा टीकाकरण
यूपी में 45 वर्ष से अधिक उम्र वर्ग में अब तक करीब 1.48 करोड़ वैक्सीन की डोज दी जा चुकी है। प्रदेश के 18 जनपदों में 18 से 44 वर्ष उम्र वर्ग के लोगों निवासियों के वैक्सीनेशन का अभियान भी चल रहा है। शुक्रवार को इस उम्र वर्ग के 49,854 नागरिकों को वैक्सीन की डोज दी गईं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेशानुसाक सोमवार, 17 मई, 2021 से प्रदेश के 5 अन्य जनपदों में 18 से 44 उम्र वर्ग के निवासियों का टीकाकरण किया जाएगा। इससे बस्ती, विन्ध्याचल धाम, आजमगढ़, देवीपाटन और चित्रकूट धाम मण्डल मुख्यालय के जनपद लाभान्वित होंगे। सोमवार से प्रदेश के कुल 23 जनपदों में 18 से 44 वर्ष उम् वर्ग के लोगों का वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा।

ऑक्सीजन का स्टॉक उपलब्ध है
सीएम ने कहा है कि प्रदेश के सभी जनपदों में 24 - 36 घण्टे के बैकअप के साथ ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। फिलहाल राज्य में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध है। शुक्रवार को प्रदेश को 1,010 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की आपूर्ति हुई है। जनपद गोरखपुर व मुरादाबाद में शनिवार को ट्रेन के जरिए ऑॅक्सीजन पहुंचाया गया। राज्य में ऑक्सीजन के वितरण से लेकर खपत तक का पूरा डेटा रिकॉर्ड रखा जा रहा है। पहले हुई विसंगतियों की जांच कराई जा रही है। फिलहाल सूबे में ऑक्सीजन और दवाइयों की कमी नहीं है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.