जिला प्रशासन पता लगाएगा एक्सीडेंट का कारण, डीएम ने इस अधिकारी को दी जिम्मेदारी, हर एंगल से होगी जांच

गाजियाबाद बस हादसा : जिला प्रशासन पता लगाएगा एक्सीडेंट का कारण, डीएम ने इस अधिकारी को दी जिम्मेदारी, हर एंगल से होगी जांच

जिला प्रशासन पता लगाएगा एक्सीडेंट का कारण, डीएम ने इस अधिकारी को दी जिम्मेदारी, हर एंगल से होगी जांच

Tricity Today | जिला प्रशासन पता लगाएगा एक्सीडेंट का कारण

जिला प्रशासन पता लगाएगा एक्सीडेंट का कारण, डीएम ने इस अधिकारी को दी जिम्मेदारी, हर एंगल से होगी जांच Ghaziabad News : बुधवार की देर शाम लालकुआं फ्लाईओवर पर हुए बस हादसे की जांच जिला प्रशासन की कमेटी करेगी। डीएम आरके सिंह ने सिटी मजिस्ट्रेट की अध्यक्षता में एक टीम गठित की है। जो हादसे के कारणों का पता लगाएगी। बता दें कि लालकुआं पर हुए बस हादसे में एक युवक की मौत हो गई है और कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। जिनका निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। 

डीएम राकेश सिंह ने दिए जांच के आदेश
हादसे के समय डीएम-एसएसपी सहित आला अधिकारी मौके पर पहुंचे थे। डीएम आरके सिंह ने बताया कि मामले की जांच पुलिस विभाग अपने स्तर से कर रहा है लेकिन प्रशासन की टीम भी हादसे की जांच करेगी ताकि भविष्य में इस तरह की घटनाओं की पुनरावृत्ति को रोका जा सके। इसके लिए सिटी मजिस्ट्रेट गंभीर सिंह की अध्यक्षता में कमेटी गठित की गई है। जिसमें आरआई टेक्निकल शामिल होंगे। ताकि हादसे की सही वजह सामने आ सके। साथ ही उन्होंने कहा कि इस तरह के हादसे शहर में ना हों, इसके लिए सभी संवेदनशील प्वाइंटों को चिन्हित करने का काम भी किया जाएगा। डीएम आरके सिंह कल खुद भी घटनास्थल पर पहुंचे और वहां का निरीक्षण किया था।

बुधवार की देर रात को हुआ था हादसा
आपको बता दें कि बुधवार की देर रात को ग्रेटर नोएडा स्थित एलजी कंपनी से आठ कर्मचारियों को लेकर बस रोजाना की तरह गाजियाबाद आ रही थी। लालकुआं से मोहननगर की ओर जाते समय भाटिया मोड़ आरओबी पुल पर बस का अगला टायर फट गया। इसके बाद अनियंत्रित बस डिवाइडर तोड़ते हुए सड़क की दूसरी लेन में चली गई और एक बाइक सवार को टक्कर मारते हुए आरओबी से नीचे दौलतपुरा कॉलोनी की तरफ जा गिरी। अचानक हुए हादसे से आसपास अफरा-तफरी मच गई। 

पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम मौके पर पहुंची
सूचना पर पुलिस और स्वास्थ्य विभाग की टीम ने बस में सवार लोगों को राहगीरों और स्थानीय निवासियों की मदद से बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया। बाइक सवार युवक की मौके पर ही मौत हो गई। हादसे की सूचना पर जिला अस्पताल पहुंचे स्वास्थ्य राज्यमंत्री ने बस सवार सुनील के सिर में गंभीर चोट लगी देख उनको उपचार के लिए यशोदा अस्पताल में रेफर कराया। जिससे कि सुनील जल्द स्वस्थ हो सकें। जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह और एसएसपी पवन कुमार ने भी जिला अस्पताल पहुंचकर घायलों के बारे में जानकारी की। 

अलग-अलग बयान से पुलिस भी उलझी
जिलाधिकारी ने बताया कि सभी घायलों को तुरंत उपचार देने का कार्य शुरू कर दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। बस के चालक और मृतक के परिजनों के अलग-अलग बयान होने से पुलिस भी उलझ गई है। बस का परमिट, फिटनेस आदि कागजी कार्रवाई पूरी होने के चलते पुलिस ज्यादा कार्रवाई नहीं कर पाई है। 

मामले की जांच होगी
एसएसपी पवन कुमार ने बताया कि मामले की जांच कराई जा रही है। जो भी दोषी होगा उस पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। चालक के अनुसार बाइक सवार बृजेश पांडे उनकी गाड़ी के आगे चल रहा था और उसने अचानक ब्रेक लगाई। जिससे बैलेंस खराब हो गया। 

मृतक के परिजनों ने किया यह बयान
वहीं मृतक के परिजनों ने बताया कि लालकुंआ की तरफ से आने का सवाल ही नहीं है। वह तो गुरूग्राम से नया बस अड्डा मेट्रो से उतरा और वहां से बाइक लेकर लालकुंआ की ओर जा रहा था। बस में सवार 8 कर्मचारियों सहित 9 लोग घायल है। जिनका एमएमजी और यशोदा अस्पताल में उपचार जारी है। 

इसलिए होगी जांच
जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने कहा कि रेलवे ओवरब्रिज की तकनीकी जांच भी कराई जाएगी। ताकि पता चल सकें कि किन कारणों से यह हादसा हुआ है। जीटी रोड़ पर लालकुंआ से भाटिया मोड़ पुल तक की सड़क पर शाम को लाइट न होने के कारण अंधेरा रहता है।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.