बंदरियों ने बुझाया घर का चिराग, युवक ने तड़प-तड़पकर सड़क पर तोड़ा दम

पिलखुवा में दर्दनाक मामला : बंदरियों ने बुझाया घर का चिराग, युवक ने तड़प-तड़पकर सड़क पर तोड़ा दम

बंदरियों ने बुझाया घर का चिराग, युवक ने तड़प-तड़पकर सड़क पर तोड़ा दम

Google Image | Pilkhuwa Monkey Attack

बंदरियों ने बुझाया घर का चिराग, युवक ने तड़प-तड़पकर सड़क पर तोड़ा दम Pilkhuwa : शादी समारोह से आते हुए एक युवक पर बंदरियों के झुंड ने हमला कर दिया। युवक स्कूटी सवार था, बंदरियों से बचाव करने के प्रयास में स्कूटी का संतुलन बिगड़ गया और वह गिर गया। जिससे युवक के सिर में गंभीर चोट आई है। इस हादसे में युवक ने तड़प-तड़पकर दम तोड़ दिया।

क्या है पूरा मामला
एक युवक मंगलवार की देर रात को शादी समारोह से अपने घर लौट रहा था। तभी बीच रास्ते मे बंदर और बंदरियों के झुंड ने युवक पर हमला कर दिया। युवक ने अपने आपको बचाने की कोशिश की, लेकिन उसकी स्कूटी का संतुलन बिगड़ गया, जिससे वह रोड़ पर गिर गया। रोड पर गिरने से सिर ईंट मे लग गया। जिसकी वजह से युवक का सिर फट गया। युवक को तत्काल अस्पताल में ले जाया गया, वहां पर डॉक्टरों ने उसको मृत घोषित कर दिया है।

ऐसे हुआ हादसा
मृतक युवक का नाम कुनाल था, जो जवाहर बाजार निवासी अशोक प्रजापति का इकलौता बेटा था। पिता ने बताया कि कुनाल उनका इकलौता बेटा था। कुनाल बी.फार्मा की पढाई कर रहा था। परिवार के लोगों ने बताया कि कुनाल दिल्ली लखनऊ हाईवे-09 के पास एक मैरिज होम मे गया था। वहां से लौटते समय लाला गंगा सहाय की धर्मशाला के पास पहुंचा तो बंदरों के झुंड ने उस पर हमला कर दिया। कुनाल ने अपने आपको बचाने का प्रयास किया,  लेकिन उसकी स्कूटी का संतुलन बिगड़ गया और वह गिर गया। इस हादसे में उसकी मौत हो गई। 

इन इलाकों में सबसे ज्यादा बंदरों का आतंक
पिलखुवा, गढ़, मोदीनगर और मुरादाबाद आदि जैसे कई नगरों मे बंदरों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं। जिसकी वजह से लोगों को परेशानियां होती है। जिससे ना तो बच्चे अपने घर से बाहर निकल पाते है और ना ही खेल पाते। बंदरों के झुंड किसी पर भी हमला कर देते हैं। लोगों का कहना है कि बंदरों के कारण लोगों ने अपनी छतों पर जाना बंद कर दिया है। सरकार को इस मामले पर भी ध्यान देने की जरूरत है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.