बच्चों को स्कूल भेजने से कतरा रहें हैं लोग, रेस्क्यू जारी

मेरठ के रिहायशी इलाके में फिर दिखा तेंदुआ : बच्चों को स्कूल भेजने से कतरा रहें हैं लोग, रेस्क्यू जारी

बच्चों को स्कूल भेजने से कतरा रहें हैं लोग, रेस्क्यू जारी

Tricity Today | Symbolic Photo

Meerut : मेरठ में एक बार फिर तेंदुए के देखे जाने से आसपास के क्षेत्रों में डर का माहौल है। लोगों ने तेंदुए के डर से घर से बाहर निकलना बंद कर दिया है। कई थानों में दहशत का माहौल है। पहले मोदीपुरम उसके बाद टीपी नगर, फिर कैंट आर्मी क्षेत्र और अब मेडिकल कई स्थानों पर तेंदुए की सूचना ने लोगों को दिन ढलते ही घरों में कैद रहने को मजबूर कर दिया है। अब जनता यही कहती नजर आ रही है शहर से देहात तक आखिर इतने तेंदुए आ कहां से रहे हैं।

मेरठ में 15 बार देखे गए तेंदुए
तेंदुए की सूचना के बाद मौके पर वन विभाग की टीम ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया है। मौके पर वन विभाग के अधिकारी मौजूद है। हर उस स्थान का निरीक्षण किया जा रहा है, जहां तेंदुए के जाने की आशंका है। इसके साथ ही मार्ग में पड़ने वाले जिन मकानों पर कैमरे लगे हैं, उनको भी देखा जा रहा है। डर के मारे लोगों ने अपने बच्चों को स्कूल भेजना बंद कर दिया है।  शहर की जनता को घर में रहने की हिदायत दी गई है। पिछले 1 साल में मेरठ में 15 बार तेंदुए देखे गए हैं।

तेंदुए की जनसंख्या में बढ़ोतरी
मेरठ डीएफओ ने बताया की जंगल धीरे धीरे खत्म हो रहे हैं। साथ ही गन्ने की फसल भी काटी जा रही है ऐसे में तेंदुए गांव से शहर की तरफ रुख करते हैं। यही नहीं इनकी जनसंख्या भी बढ़ती जा रही है। एक वजह ये भी है की शहर में कुत्ते आदि जानवर का आसानी शिकार कर अपना पेट भर लेते हैं। कहीं सुनसान इलाके या शहर से लगते जंगलों में छिप जाते हैं। रात को फिर से ये अपने शिकार पर निकल जाते हैं।

Copyright © 2022 - 2023 Tricity. All Rights Reserved.