हाईवे में लगातार हो रहे सड़क हादसे, 6 महीने में 200 की मौत, जिम्मेदार बेखबर

हमीरपुर : हाईवे में लगातार हो रहे सड़क हादसे, 6 महीने में 200 की मौत, जिम्मेदार बेखबर

हाईवे में लगातार हो रहे सड़क हादसे, 6 महीने में 200 की मौत, जिम्मेदार बेखबर

Tricity Today | Hamirpur Road Accident

हाईवे में लगातार हो रहे सड़क हादसे, 6 महीने में 200 की मौत, जिम्मेदार बेखबर Hamirpur:- हमीरपुर से होकर गुज़रने वाले नेशनल हाइवे 34 पर लगातार हादसों में इज़ाफा हो रहा है, और लोगों की मौतों की तादात भी तेज़ी से बढ़ी है, बीते 6 महीने के दौरान इस हाइवे पर 200 लोगों की मौत हो चुकी जबकि इससे कहीं ज़्यादा गंभीर घायल हो चुके हैं जिसमें से कई तो अपना हाँथ पैर गंवा चुके हैं। हादसों में रोक लगे इसके लिए हाइवे पर डिवाइडर बन्ने की आवश्यकता है। जिसके लिए बीते कई सालों से मांग चली आ रही है, लेकिन सुनने वाला नहीं हुई, और  हादसे होना बदस्तूर जारी है।

हमीरपुर से गुज़रने वाला नेशनल हाइवे 34 जो कानपुर से सागर मध्यप्रदेश को जोड़ता है, उसपर रोज़ 8 हज़ार ट्रक गिट्टी और मौरम लेकर गुज़रते हैं। इसके साथ ही निजी साधनों और बसों की तादात भी अच्छी खासी है। जिसकी वजह से इस टू-लेन हाइवे पर ट्राफिक छमता से ज़्यादा है। चूँकि नेशनल हाइवे 34 पर डिवाइडर नहीं है इसलिए ट्राफिक कंट्रोल के बाहर है, कोई राईट साइड से भागता है तो कोई लेफ्ट साइड से, और इसी दौरान हादसे होते हैं।

नेशनल हाइवे 34 पर अभी तक जितने हादसे हुए हैं उसमें से ज़्यादातर हादसे आमने सामने हुए हैं, जिसमें बीते 6 महीने के दौरान इस हाइवे पर 200 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि इससे कहीं ज़्यादा घायलों की तादात है जिसमें से तमाम हाँथ या पैर गंवा चुके हैं। बीते दिन भी इस हाइवे पर पिकअप और ऑटो रिक्शे के बीच हादसा हुआ था जिसमें 8 लोगों की मौत हुई थी जबकि, इतने ही घयाल हुए थे जिनका इलाज चल रहा है। इस हाइवे पर अगर डिवाइडर बन जाए तो हादसों में लगाम लग जायेगी और लोग सुरक्षित सफ़र कर सकेंगे।


हाइवे पर डिवाइडर बने इसके लिए बीते कई सालों से मांग होती चली आ रही है, लोगों ने ज्ञापन के माध्यम से सरकार तक डिवाइडर बनवाने की मांग पहुंचाई है, तो वहीँ ज़िले के अधिवक्ताओं ने कलेक्ट्रेट में कई बार धरना प्रदर्शन भी किया है लेकिन सुनवाई आज तक नहीं हो सकी है। और हमेशा यह जवाब मिला की यह हाइवे टू-लेन है, डिवाइडर बनवाने के लिए फोर लेन रोड की आवश्यकता है।

हादसे का मुख्य कारण
नेशनल हाइवे पर डिवाइडर कब तक बनेगा इस बाबत हमीरपुर विधायक मनोज प्रजापति से बात की गई तो इन्होने माना की हम ज़िले के बहुत सारे लोगों को हादसे में खो चुके हैं। विधायक के कहा की डिवाइडर बनवाने में अड़चन इस बात की है की जिस कम्पनी ने हाइवे बनवाया है, उससे 2025 तक का एग्रीमेंट है, जिसे निरस्त नहीं किया जा सकता, फिर भी इस बात को वह मुख्यमंत्री के संयान में ला चुके हैं, बीते दिन हुए भीषण हादसे की चर्चा करते हुए विधायक ने कहा की वह इस मामले में वह पीडब्ल्यूडी मंत्री से बात करेंगे और हादसों के हालात से अवगत करायेंगे।


भाजपा विधायक के बयान
हमीरपुर विधायक से जब यह कहा गया की क्या टू-लेन में डिवाइडर नहीं बन सकता तो इन्होने इस सुझाव को अच्छा माना और कहा की वह इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी हमीरपुर से बात करेंगे और टू-लेन में ही डिवाइडर बनवाने की कोशिश करेंगे, ताकि कम से कम आमने सामने होने वाले हादसों में रोक लग सके।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.