कोरोना वायरस टीकाकरण : पहले दिन सबसे ज्यादा टीके लगाने में उत्तर प्रदेश अब्बल, देखें दूसरे राज्यों में कितने टीके लगे

पहले दिन सबसे ज्यादा टीके लगाने में उत्तर प्रदेश अब्बल, देखें दूसरे राज्यों में कितने टीके लगे

Google Image | प्रतीकात्मक फोटो

कोरोना वायरस टीकाकरण के पहले दिन शनिवार को उत्तर प्रदेश ने सर्वाधिक स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाने का रिकॉर्ड बनाया। 16 जनवरी, शनिवार से पूरे देश में स्वास्थ्य कर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स का कोरोना वायरस टीकाकरण शुरू हो गया है। इस सिलसिले में पहले चरण के पहले दिन पूरे देश में 1.91 लाख स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। पहले दिन उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा एक 21,291 स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया। 

शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने टीकाकरण अभियान की शुरुआत की। उन्होंने नागरिकों से कहा कि वैज्ञानिकों और विशेषज्ञों के 'मेड इन इंडिया टीकों की सुरक्षा के प्रति आश्वस्त होने के बाद ही इसके उपयोग की अनुमति दी गई है। प्रधानमंत्री ने लोगों से दुष्प्रचार और अफवाहों से बचने की अपील की। स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 21,291 लोगों को टीका लगाया गया। इसके बाद आंध्र प्रदेश में 18,412, महाराष्ट्र में 18,328, बिहार में 18,169, ओडिशा में 13,746, कर्नाटक में 13,594, गुजरात में 10,787, राजस्थान में 9,279, पश्चिम बंगाल में 9,730, मध्य प्रदेश में 9,219 और केरल में 8,062 लोगों को टीका लगाया गया।     

इसके अलावा, टीकाकरण के पहले दिन छत्तीसगढ़ में 5,592, हरियाणा में 5,589, दिल्ली में 4,319, तेलंगाना में 3,653, असम में 3,528, झारखंड में 3,096, उत्तराखंड में 2,276, जम्मू-कश्मीर में 2,044, हिमाचल प्रदेश में 1,517 और पंजाब में 1,319 लोगों को टीका लगाया गया। टीकाकरण के पहले दिन मणिपुर में 585, नगालैंड में 561, मेघालय में 509, गोवा में 426, त्रिपुरा में 355, मिजोरम में 314, पुडुचेरी में 274, चंडीगढ़ में 265, अंडमान-निकोबार द्वीप समूह में 225, सिक्किम में 120, दादरा एवं नगर हवेली में 80, लद्दाख में 79, दमन और दीव में 43 तथा लक्षद्वीप में 21 लोगों ने टीका लगवाया। 

स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक कोराना वायरस टीकाकरण के पहले दिन 3,352 सत्र आयोजित किए गए। इस दौरान 1,91,181 लाभार्थियों को टीका लगाया गया। जिन 11 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कोविशील्ड और कोवैक्सीन दोनों के टीके लगाए गए,  उनमें असम (65 सत्र), बिहार (301 सत्र), दिल्ली (81 सत्र), हरियाणा (77 सत्र), कर्नाटक (242 सत्र), महाराष्ट्र (285 सत्र), ओडिशा (161 सत्र), राजस्थान (167 सत्र), तमिलनाडु (160 सत्र), तेलंगाना (14 सत्र) और उत्तर प्रदेश (317 सत्र) शामिल हैं।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक देश में कोरोना वायरस से संक्रमित कुल 2,08,826 मरीजों का इलाज चल रहा है। इनमें से सर्वाधिक संक्रमित केरल में है। केरल में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या 68,633 है। महाराष्ट्र में 53,163, उत्तर प्रदेश में 9,162, कर्नाटक में 8,713, पश्चिम बंगाल में 7,151 और तमिलनाडु में 6,128 कोरोना संक्रमित मरीजों का इलाज किया जा रहा है। देश में संक्रमण के एक करोड़ से अधिक मामले सामने आने और 1.5 लाख से अधिक लोगों की मौत के बाद भारत ने कोविड-19 के खात्मे के लिए शुरुआती कदम बढ़ाते हुए देशभर में चिकित्सकीय केंद्रों पर कोविशील्ड और कोवैक्सीन के टीके लगाने आरंभ कर दिए हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2019-2020 Tricity. All Rights Reserved.