60 एकड़ में बनेंगे होटल और शॉपिंग काम्प्लेक्स, डेवलपमेंट प्लान के लिए योगी सरकार को भेजा प्रस्ताव, पूरी जानकारी

जेवर एयरपोर्ट : 60 एकड़ में बनेंगे होटल और शॉपिंग काम्प्लेक्स, डेवलपमेंट प्लान के लिए योगी सरकार को भेजा प्रस्ताव, पूरी जानकारी

60 एकड़ में बनेंगे होटल और शॉपिंग काम्प्लेक्स, डेवलपमेंट प्लान के लिए योगी सरकार को भेजा प्रस्ताव, पूरी जानकारी

Tricity Today | डेवलपमेंट प्लान के लिए योगी सरकार को भेजा प्रस्ताव (File Photo)

60 एकड़ में बनेंगे होटल और शॉपिंग काम्प्लेक्स, डेवलपमेंट प्लान के लिए योगी सरकार को भेजा प्रस्ताव, पूरी जानकारी Jewar Airport News : जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के डेवलपमेंट प्लान मिलने के बाद अब उसके परीक्षण और अनुपालन पर काम होगा। डेवलपमेंट प्लान का परीक्षण करने और उसको लागू कराने के लिए सरकारी कंपनी का चयन किया जाएगा। इसके लिए नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट लिमिटेड ने सरकार को प्रस्ताव भेज दिया है। शासन की मुहर के बाद कंपनी का चयन कर लिया जाएगा। ताकि इस काम को तेजी से आगे किया जा सके।

60 एकड़ जमीन में व्यवसायिक गतिविधियां होंगी
इस परीक्षण के बाद डेवलपमेंट प्लान को मंजूर कर लिया जाएगा। चयनित कंपनी डेवलपमेंट प्लान के अनुसार काम की निगरानी करेगी। यहां होने वाले कामों की गुणवत्ता, मानकों के अनुरूप निर्माण कार्य, तय समय सीमा पर निर्माण कार्य आदि पर नजर रखेगी। इस कंपनी का खर्च नियाल और वाईआईएपीएल दोनों वहन करेंगे। वहीं, जेवर एयरपोर्ट को विकसित करने के लिए विकासकर्ता कंपनी को 1334 हेक्टेयर जमीन दी गई है। पहले चरण के उप चरण में 60 एकड़ जमीन में व्यवसायिक गतिविधियां होंगी। इसमें होटल, रेस्टोरेंट शॉपिंग काम्प्लेक्स आदि बनेंगे। एयरपोर्ट में आने वाले लोगों के लिए यह सुविधाएं विकसित की जाएंगी ताकि यहां आने वाले लोगों को किसी तरह की दिक्कत ना हो।

नियाल ने डेवलपमेंट प्लान सौंपा
लखनऊ में मंगलवार को हुई बैठक में जेवर एयरपोर्ट की विकासकर्ता कंपनी यमुना इंटरनेशनल एयरपोर्ट प्राइवेट लिमिटेड ने डेवलपमेंट प्लान सौंप दिया। अब इस प्लान का परीक्षण करने के बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी। नियाल ने इस डेवलपमेंट प्लान का परीक्षण करने और इसको लागू कराने के लिए इंजीनियरों की नियुक्ति का फैसला लिया था। इसके लिए टेंडर निकाले गए थे लेकिन उपयुक्त इंजीनियर नहीं मिलने से चयन नहीं हो पाया है। 

योगी सरकार से मंजूरी का इंतजार
अब नियाल ने इसके लिए सरकारी एजेंसी का चयन करने का फैसला लिया है। इस काम को एयरपोर्ट अथॉरिटी आफ इंडिया और राइट्स समेत कई कंपनियां कर सकती हैं। इनमें से किसी एक कंपनी का चयन करने के लिए नियाल ने शासन को प्रस्ताव भेजा है। शासन की मुहर लगने के बाद कंपनी का चयन कर लिया जाएगा। यह कंपनी इस प्लान का परीक्षण करेगी और इसको लागू कराएगी। विकासकर्ता कंपनी ने जो प्लान दिया है उसको मास्टर प्लान से मिलान किया जाएगा। मास्टर प्लान में जो चीज जहां पर दी गई है, उसको मास्टर प्लान में रखा गया है या नहीं, यह देखा जाएगा। साथ ही उसका नक्शा भी मिलान किया जाएगा।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.