मेट्रो के मुकाबले 20 फ़ीसदी खर्च होगा, फायदे होंगे कई गुना ज्यादा, पढ़िए ख़ास रिपोर्ट

जेवर एयरपोर्ट पॉड टैक्सी प्रोजेक्ट: मेट्रो के मुकाबले 20 फ़ीसदी खर्च होगा, फायदे होंगे कई गुना ज्यादा, पढ़िए ख़ास रिपोर्ट

मेट्रो के मुकाबले 20 फ़ीसदी खर्च होगा, फायदे होंगे कई गुना ज्यादा, पढ़िए ख़ास रिपोर्ट

Tricity Today | Dr Arunvir Singh IAS

मेट्रो के मुकाबले 20 फ़ीसदी खर्च होगा, फायदे होंगे कई गुना ज्यादा, पढ़िए ख़ास रिपोर्ट Jewar Airport News : जेवर में बनने वाले नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Noida International Airport) की कनेक्टिविटी पर यमुना प्राधिकरण (Yamuna Authority) काम कर रही है। इसके लिए ग्रेटर नोएडा फिल्म सिटी (Greater Noida Film City) और एयरपोर्ट के बीच पॉड टैक्सी प्रोजेक्ट (Pod Taxi) पर काम शुरू हो गया है। इस परियोजना की डीपीआर बनाने के लिए यमुना प्राधिकरण ने कंपनी का चयन कर लिया है। केंद्र सरकार का इंडियन पोर्ट रेल एंड रोपवे कारपोरेशन अगले एक महीने में फिजीबिलिटी रिपोर्ट और डिटेल्ड प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाकर देगा। इस प्रोजेक्ट की ख़ास बात यह है कि मेट्रो के मुकाबले इसका खर्च केवल 20 फीसदी होगा। इसके फायदे बहुत ज्यादा होंगे। इससे टूरिज्म को भी बढ़ावा मिलेगा।

अभी साढ़े पांच किलोमीटर चलेगी पॉड टैक्सी
यमुना प्राधिकरण ने फिल्म सिटी और जेवर एयरपोर्ट के बीच पॉड टैक्सी चलाने का फैसला लिया है। इनके बीच की दूरी साढ़े पांच किलोमीटर है। शुरुआत में इतनी दूसरी के लिए पॉड टैक्सी का संचालन किया जाएगा। इस परियोजना की फिजीबिलिटी रिपोर्ट और डीपीआर एक महीने में मिल जाएगी। डीपीआर में पॉड टैक्सी के लिए यात्रियों का आंकलन किया जाएगा। ट्रैक का एलाइनमेंट, स्टेशनों का लेआउट, ग्रेटर नोएडा-जेवर मेट्रो और दिल्ली-वाराणसी हाई स्पीड रेल के बीच पॉड टैक्सी का ट्रैक बनाने के लिए नक्शा बनाया जाएगा। फाइनेंशियल और बिड डॉक्यूमेंट भी बनेगा। केंद्र सरकार का यह उपक्रम दो और शहरों के लिए पॉड टैक्सी की डीपीआर बना चुका है। मुंबई और हैदराबाद शहर में पॉड टैक्सी चलाने के लिए डीपीआर बनाई है।

डीएमआरसी भी काम करने का इच्छुक था
इस परियोजना पर काम करने के लिए इंडियन पोर्ट रेल एंड रोपवे कारपोरेशन के अलावा दिल्ली मेट्रो रेल कारपोरेशन (डीएमआरसी) भी इच्छुक था। यमुना प्राधिकरण ने यह काम इंडियन पोर्ट रेल एंड रोपवे कारपोरेशन को दिया है। ख़ास बात यह है कि पहली बार डीएमआरसी के मुकाबले किसी दूसरे उपक्रम को चुना गया है। आपको बता दें कि ग्रेटर नोएडा और जेवर एयरपोर्ट के बीच मेट्रो चलेगी। यह एक्सप्रेस लाइन होगी। स्टेशनों की संख्या 5-6 होगी।

पॉड टैक्सी टूरिज्म को बढ़ावा देगी 
यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ.अरुण वीर सिंह का कहना है कि जेवर एयरपोर्ट आने वाले लोग अगर फिल्म सिटी जाना चाहेंगे तो पॉड टैक्सी उपयोग कर सकेंगे। इस सफर में वह एडवेंचर का भी अनुभव कर सकेगा। मुझे भरोसा है कि पर्यटन के लिहाज से पॉड टैक्सी लोगों के आकर्षण का केंद्र बन जाएगी। यह लोगों के लिए एडवंचरस होगी। डीपीआर एक महीने में मिल जाएगी।

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.