यमुना ऑथोरिटी कर्ज नहीं बॉन्ड से हासिल करेगी पैसा, आप भी खरीद सकते हैं यह बॉन्ड, जानिए क्या फायदा होगा

SPECIAL NEWS : यमुना ऑथोरिटी कर्ज नहीं बॉन्ड से हासिल करेगी पैसा, आप भी खरीद सकते हैं यह बॉन्ड, जानिए क्या फायदा होगा

यमुना ऑथोरिटी कर्ज नहीं बॉन्ड से हासिल करेगी पैसा, आप भी खरीद सकते हैं यह बॉन्ड, जानिए क्या फायदा होगा

Tricity Today | Yamuna Authority

यमुना ऑथोरिटी कर्ज नहीं बॉन्ड से हासिल करेगी पैसा, आप भी खरीद सकते हैं यह बॉन्ड, जानिए क्या फायदा होगा Yamuna City News : यमुना प्राधिकरण (Yamuna Authority) अपनी विकास योजनाओं के लिए अब बैंकों या दूसरे निकायों से कर्ज नहीं लेगा। मास्टर प्लान-2041 के तहत यमुना सिटी को विकसित करने के लिए अथॉरिटी ने म्युनिसिपल और इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड निकालने का फैसला लिया है। इसके लिए प्रक्रिया शुरू कर दी है। गुरुवार को प्राधिकरण ने विशेषज्ञ एजेंसी चुनने के लिए रिक्वेस्ट फॉर प्रपोजल (आरएफपी) निकाला है। एक महीने यानि 6 जून तक देशभर की एजेंसियां आवेदन कर सकती हैं। प्राधिकरण के बॉन्ड आम आदमी खरीद सकेंगे। इससे जो पैसा मिलेगा उससे यमुना सिटी का विकास होगा। लम्बी अवधि के इन बांड्स पर अथॉरिटी अच्छा रिटर्न देगी। पिछली बोर्ड बैठक में बॉन्ड लाने पर सहमति बन चुकी है।

एयरपोर्ट से लेकर फिल्म सिटी और मेट्रो जैसी बड़ी योजनाएं
यमुना प्राधिकरण तेजी से बड़ी-बड़ी योजनाओं पर काम कर रहा है। इनमें नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट, फिल्म सिटी, औद्योगिक कलस्टर, मेट्रो, पॉड टैक्सी, एक्सप्रेसवे और मेडिकल डिवाइस पार्क शामिल हैं। इसके लिए बहुत ज्यादा पैसे की जरूरत है। प्राधिकरण यह पैसा कर्ज के रूप में बैंकों या दूसरे सरकारी निकायों से नहीं लेगा। म्युनिसिपल और इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड से पैसा जुटाएगा। पिछले साल पहले लखनऊ और फिर गाजियाबाद नगर निगम ने म्युनिसिपल और इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड से पैसा जुटाया है। लखनऊ नगर निगम को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड करवाया गया है।

म्यूनिसिपल बॉन्ड क्या है?
म्यूनिसिपल और इंफ्रास्ट्रक्चर बॉन्ड कोई नगर पालिका, नगर निगम और राज्य अपने पूंजीगत व्यय को वित्तपोषित करने के लिए जारी कर सकता है। यह एक ऋण सुरक्षा है, जिसमें राजमार्गों, पुलों या स्कूलों के निर्माण शामिल हैं। इसे ऐसे ऋणों के रूप में माना जा सकता है, जो निवेशक स्थानीय सरकारों को देते हैं। नगर पालिका बांडों को अक्सर संघीय करों और अधिकांश राज्य और स्थानीय करों से छूट दी जाती है। जिससे ये विशेष रूप से उच्च आयकर ब्रैकेट वाले लोगों के लिए आकर्षक हो जाते हैं। म्युनिसिपल बॉन्ड पर चुकाया जाने वाला ब्याज अक्सर कर मुक्त होता है। इन्हें गैर-लाभकारी संगठन ही जारी कर सकते हैं। यमुना अथॉरिटी इसी श्रेणी का निकाय है। 

कॉरपोरेट बॉन्ड से ज्यादा बेहतर
कॉरपोरेट बॉन्ड की तुलना में म्यूनिसिपल बॉन्ड आम आदमी के लिए बेहतर हैं और डिफ़ॉल्ट का जोखिम कम है। उदाहरण के लिए पानी आपूर्ति, सीवेज का उपचार या अन्य मूलभूत सेवाएं प्रदान करने वाले भरोसेमंद राजस्व हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.