पैरा ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाले प्रवीण कुमार के माता-पिता से योगी ने की फोन पर बात, मां का जवाब सुन अभिभूत हुए सीएम

VIDEO : पैरा ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाले प्रवीण कुमार के माता-पिता से योगी ने की फोन पर बात, मां का जवाब सुन अभिभूत हुए सीएम

पैरा ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाले प्रवीण कुमार के माता-पिता से योगी ने की फोन पर बात, मां का जवाब सुन अभिभूत हुए सीएम

Tricity Today | प्रवीण कुमार के माता-पिता से योगी आदित्यनाथ ने की फोन पर बात

पैरा ओलंपिक में सिल्वर मेडल जीतने वाले प्रवीण कुमार के माता-पिता से योगी ने की फोन पर बात, मां का जवाब सुन अभिभूत हुए सीएम
  • - गौतमबुद्ध नगर के गोविंदगढ़ गांव के रहने वाले हैं पैरा ओलंपियन प्रवीण कुमार
  • - जेवर विधायक धीरेंद्र सिंह शुक्रवार की दोपहर प्रवीण के माता-पिता को बधाई देने गए
  • - विधायक ने गांव से फोन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से दोनों की बात करवाई
  • - मुख्यमंत्री ने कहा- प्रवीण ने सबका नाम रोशन किया है, उन्हें सम्मानित किया जाएगा
  • - शुक्रवार की सुबह ऊंची कूद में प्रवीण कुमार ने शानदार प्रदर्शन कर सिल्वर मेडल जीता
Tokyo Para Olympic : टोक्यो पैरा ओलंपिक में गौतमबुद्ध नगर के सपूत ने बड़ी कामयाबी हासिल की है। गोविंदगढ़ गांव के एक छोटे से किसान परिवार के बेटे प्रवीण कुमार सिंह ने देश का नाम रोशन किया है। प्रवीण कुमार ने शुक्रवार की सुबह ऊंची कूद प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन करते हुए रजत पदक हासिल किया। इसके बाद से गौतमबुद्ध नगर में खुशी का माहौल है। प्रवीण कुमार के घर बधाइयों का तांता लगा हुआ है। इसी सिलसिले में जेवर से भारतीय जनता पार्टी (Bhartiya Janta Party) के विधायक ठाकुर धीरेंद्र सिंह (Dhirendra Singh MLA) उनके घर पहुंचे। उनके माता-पिता से मुलाकात की। धीरेंद्र सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) को फोन किया और प्रवीण सिंह के माता-पिता से बात करवाई। इस दौरान योगी आदित्यनाथ ने उन्हें बधाई देते हुए कहा, "आपके बेटे ने पूरे देश का नाम रोशन कर दिया है। राज्य सरकार उनका शानदार स्वागत और सम्मान करेगी।"

विधायक धीरेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को फोन किया। उन्हें बताया, "महाराज जी मेरे क्षेत्र के छोटे से गांव गोविंदगढ़ के युवक प्रवीण कुमार ने पैरा ओलंपिक में रजत पदक जीता है।" योगी आदित्यनाथ ने विधायक को कहा कि प्रवीण कुमार के परिवार को मेरी ओर से बधाई दीजिए। इस पर विधायक ने सीएम को बताया कि वह प्रवीण कुमार के घर उनके माता-पिता के साथ बैठे हैं। सीधे उनसे बात कर लीजिए। मुख्यमंत्री से पहले प्रवीण कुमार के पिता अमरपाल सिंह ने बात की। योगी आदित्यनाथ ने उनसे कहा, "आपको बहुत-बहुत शुभकामनाएं। आपके पुत्र ने बड़ा काम किया है। प्रवीण ने पूरे देश का नाम रोशन कर दिया है। इससे मुझे बहुत ख़ुशी मिली है। जब प्रवीण वापस आएँगे तो उनका स्वागत और सम्मान किया जाएगा।"



योगी जी प्रवीण तो पूरे देश का बेटा है
इसके बाद विधायक ने प्रवीण कुमार सिंह की मां निर्दोष देवी से मुख्यमंत्री की बात करवाई। सीएम ने पूछा, "आप कैसी हैं ?" निर्दोष देवी ने जवाब दिया, "मैं अच्छी हूं। आप बताइये कैसे हैं ?" सीएम ने कहा, "मैं अच्छा हूं। आपके पुत्र प्रवीण कुमार सिंह ने पूरे देश का नाम रोशन कर दिया है। यह सभी के लिए गर्व की बात है।" इस पर निर्दोष देवी ने आगे कहा, "मुख्यमंत्री जी वह मेरा ही बेटा नहीं है। वह तो पूरे देश का बेटा है।" इस पर योगी आदित्यनाथ अभिभूत हो गए। उन्होंने आगे कहा, "इसमें कोई संदेह नहीं है। किन्तु आप उनकी मां हैं। आपने उन्हें इस काबिल बनाया है। इस सफलता और विजय के लिए सबसे ज्यादा श्रेय आपको ही जाता है।"

सीएम ने विधायक को दिया मदद का आश्वासन
धीरेन्द्र सिंह ने प्रवीण कुमार सिंह को आर्थिक मदद देने की मांग मुख्यमंत्री से की। इस पर सीएम ने विधायक से कहा, "धीरेन्द्र जी आपके प्रस्ताव पर पैरा ओलंपिक खिलाडियों को मदद देने के लिए पॉलिसी बनी थी। उसी के माध्यम से प्रवीण कुमार को लाभान्वित किया जाएगा।" आपको बता दें कि वर्ष 2016 के रियो पैरा ओलंपिक में ग्रेटर नोएडा के वरुण सिंह भाटी ने कांस्य पदक हासिल किया था। तब तक उत्तर प्रदेश सरकार के पास पैरा खिलाडियों को आर्थिक लाभ देने के लिए कोई पॉलिसी नहीं थी। वरुण सिंह भाटी जेवर विधानसभा क्षेत्र के निवासी हैं। लिहाजा, धीरेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री को प्रस्ताव दिया कि जब सामान्य खिलाडियों को राज्य, राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रदर्शन करने के लिए तमाम लाभ मिलते हैं तो फिर दिव्यांग खिलाडियों को क्यों लाभ ना दिए जाएं ?

कोई परिस्थिति इंसान के हौसले को परास्त नहीं कर सकती
धीरेन्द्र सिंह के इस प्रस्ताव पर उत्तर प्रदेश सरकार ने दिव्यांग खिलाडियों को सम्मानित करने, पुरस्कार देने, नौकरियां देने और आर्थिक लाभ देने की पॉलिसी बनाई। यह पॉलिसी करीब दो साल पहले ही राज्य में लागू की गई है। जिसका सबसे पहले लाभ वरुण सिंह भाटी को मिला था। अब प्रवीण कुमार सिंह को सरकार सम्मानित और पुरस्कृत करेगी। धीरेन्द्र सिंह ने प्रवीण कुमार की कामयाबी पर ख़ुशी जाहिर की है। उन्होंने कहा, "प्रवीण कुमार युवाओं के लिए नजीर हैं। उनकी सफलता कहती है कि कोई भी परिस्थिति इंसान के हौसले को परास्त नहीं कर सकती है।"

अन्य खबरे

Copyright © 2020 - 2021 Tricity. All Rights Reserved.