बड़ी ख़बरें

आपके फोन में एप डाउनलोड कर जासूसी तो नहीं कर रहा कोई

Tricity Today Team/New Delhi

 

गूगल प्ले स्टोर पर मुफ्त में कई ऐसी एप्लीकेशन मौजूद हैं जिन्हें किसी के फोन में इंस्टॉल कर आप उस व्यक्ति की बातों को अपने कंप्यूटर पर रिकॉर्ड कर सकते हैं। उनकी लोकेशन ट्रैक कर सकते हैं और मैसेज भी पढ़ सकते हैं। जानिए कैसे ये एप लोगों की प्राइवेसी को भंग करती हैं।


गूगल प्ले स्टोर पर फ्री में कई ऐसी एप मौजूद हैं जिनका इस्तेमाल लोग अपने पार्टनर और दूसरे लोगों की जासूसी के लिए कर रहे हैं। अगर एक बार फोन उनके हाथ लग जाए तो आसानी से इन एप को फोन में इंस्टॉल किया जा सकता है। 


स्पाई कॉल रिकॉर्डर से फोन रिकॉर्ड
स्पाई कॉल रिकॉर्डर ऐसी एप्लीकेशन है जिसे डाउनलोड कर फोन पर होने वाली सारी बातचीत रिकॉर्ड की जाती है। यह एप्लीकेशन सभी इनकमिंग और आउटगोइंग कॉल की एमपी थ्री क्लिप बनाकर सेव कर लेता है। इसे गूगल प्ले से डाउनलोड करने के बाद एक अकाउंट रजिस्टर करना पड़ता है। इसमें ईमेल एड्रेस के साथ चार डिजिट की एक पिन देनी पड़ती है जिसके जरिए रिकॉर्ड हुई कॉल को इस एप की वेबसाइट से सुना जाता है। इसमें इनकमिंग और आउटगोइंग कॉल के नंबर भी दिखाई देते हैं। स्काई कॉल रिकॉर्डर को किसी भी फोन में डाउनलोड करने के बाद ‘डू नॉट शो नोटिफिकेशन’ पर क्लिक कर दिया जाए तो वह यूजर यह नहीं जान पाएगा कि उसकी कॉल रिकॉर्ड हो रही है। इस विकल्प पर क्लिक नहीं किया है तो पता चल जाता है कि कॉल रिकॉर्ड हो रही है। 

 

एसएमएस ट्रैकर पढ़ाता है मैसेज
गूगल प्ले पर फ्री में मौजूद एसएमएस ट्रैकर ऐसा एप है जिसके जरिए किसी के मोबाइल पर आने वाले मैसेज आप अपने कंप्यूटर पर पढ़ सकते हैं। एप को पहले फोन में डाउनलोड किया जाता है। फोन में मैसेज ट्रैकर इंस्टॉल होने के बाद अकाउंट रजिस्टर करना होता है। इसके तहत एक लॉग-इन आईडी और चार डिजिट का पिन दिया जाता है जिसके जरिए फोन में आने वाले इन मैसेज को पढ़ा जाता है। एप की वेबसाइट के सर्वर पर  मैसेज के साथ-साथ उन मोबाइल नंबर की जानकारी जिनसे मैसेज भेजे गए हैं और टाइम व डेट भी लिखी आ जाती है। 

 

लोकेशन की जानकारी
मोबाइल फोन की लोकेशन के लिए भी कई एप मौजूद हैं। ये एप जीपीएस के जरिए उन फोन की लोकेशन शेयर करते हैं जिनमें ये डाउनलोड किए गए हैं। एसएमएस ट्रैकर, जीपीएस ट्रैकिंग प्रो और लोकेशन ट्रैकर ऐसे ही एप हैं जो आपकी पल पल की लोकेशन भी दूसरे लोगों को बता सकते हैं। 

 

 

ऐसे पता चलेगा जासूसी के  बारे में
जासूसी करने वाले ये एप आपकी प्राइवेसी के लिए खतरा हो सकते हैं। इन एप को आसानी से फोन में पकड़ा जा सकता है। इसके लिए फोन की सेटिंग में जाएं और एप्लीकेशन के विकल्प पर क्लिक करें। अगर सेटिंग में एप का ऑप्शन नहीं दिख रहा है तो ‘मोर ऑपश्न’ पर जाने के बाद यह जरूर दिख जाएगा। एप पर क्लिक होने के बाद आपके फोन में डाउनलोड की गई सारी एप्लीकेशन की जानकारी आ जाएगी। इनमें से संदेहास्पद एप नजर आने पर एप में जाकर ‘फोर्स अनइंस्टॉल’ पर क्लिक करे दें। यह एप अपने आप अनइंस्टॉल हो जाएगी। 

 

‘एंटी स्पाई मोबाइल फ्री’ कर देगा डिलीट
यह एक ऐसा एप हो जो फोन में डाउनलोड स्पाईवेयर एप्लीकेशन को आसानी से खोज लेता है और खुद-ब-खुद उन्हें डिलीट भी कर देता है। इसे गूगल प्ले स्टोर से मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है। हालांकि इसके लेटेस्ट वर्जन के लिए 220 रुपये की कीमत चुकानी पड़ेगी।