जेल में बंद यादव सिंह का दबदबा, सीबीआई जांच के बीच में बेटे पर प्राधिकरण ने की मेहरबानी

TricityToday Correspondent

नोएडा-ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के चीफ इंजीनियरिंग यादव सिंह भ्रष्टाचार के आरोपों में जेल में बंद हैं लेकिन उनकी पावर कम नहीं हुई है। सीबीआई जांच चल रही है लेकिन ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के अधिकारियों ने उनके बेटे पर एक मेहरबानी कर दी है। यादव सिंह के बेटे सनी यादव का प्रमोशन कर सीनियर अधिकारी के कामकाज की जिम्मेदारी सौंप दी है।

ग्रेटर नोएडा आॅथोरिटी ने सनी यादव को मैनेजर से सीनियर मैनेेजर की जिम्मेदारी सौंप दी है। सीनियर मैनेेजर बना दिया गया है। हैरानी की बात है कि जब सीबीआई जांच चल रही है और सनी यादव खुद जांच के दायरे में हैं ऐसे में उसका प्रमोशन करना कितना सही है। सीबीआई जांच अभी खत्म नहीं हुई है। सनी यादव के रूतबे की कहानी बहुत बड़ी है। यादव सिंह जब सीबीआई के शिंकजे में आया तब भी उसके बेट का दबदबा बरकरार था। सनी यादव चुपचाप प्राधिकरण आता था और हाजिरी लगा कर निकल जाता था। यादव सिंह की पावर का ही खेल है कि सनी यादव से कोई सवाल पूछने की हिम्मत नहीं जुटा पाता था। अब अब सनी यादव का बढ़ा हुआ कद जेल में बंद यादव सिंह के दबदबे को बयां कर रहा है।

दरअसल, नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना प्राधिकरण के निलंबित चीफ इंजीनियर यादव को 954 करोड़ रूपये के घोटले के आरोपों में सीबीआई ने गिरफ्तार किया था। इन दिनों वह डासना जेल में बंद है। यादव सिंह के अलावा इस मामले में 13 अन्य लोगों को आरोपी बनाया गया है।