एटीएम हैक कर अब तक निकाल चुके करोड़ों रुपये, पुलिस ने पांच को किया गिरफ्तार

Ghaziabad News : एटीएम हैक कर अब तक निकाल चुके करोड़ों रुपये, पुलिस ने पांच को किया गिरफ्तार

एटीएम हैक कर अब तक निकाल चुके करोड़ों रुपये, पुलिस ने पांच को किया गिरफ्तार

Tricity Today | एटीएम हैक कर रुपये निकालने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार

एटीएम हैक कर अब तक निकाल चुके करोड़ों रुपये, पुलिस ने पांच को किया गिरफ्तार
  • एटीएम हैक करने की 100 से ज्यादा घटनाओं को आरोपियों ने कबूला
  • पुलिस के मुताबिक आरोपी अब तक सैकड़ों एटीएम हैक कर निकाल चुके हैं करोड़ों रुपये 
Ghaziabad News: कोतवाली इंदिरापुरम पुलिस और साइबर सेल की टीम ने एक ज्वाइंट ऑपरेशन कर एटीएम हैक कर रुपये निकालने वाले गिरोह के पांच सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने आरोपियों के पास से ATM हैक करने में प्रयोग किया जाने वाला लैपटॉप समेत कई अन्य सामान बरामद किए हैं। पुलिस के मुताबिक गैंग का सरगना कमल अभी फरार है जिसकी तलाश की जा रही ही। आरोपियों ने अब तक 100 से अधिक एटीएम हैक कर करोड़ों रुपये निकालने की बात कबूल की है।

जानकारी के मुताबिक गाजियाबाद की कोतवाली इंदिरापुरम पुलिस और साइबर सेल की टीम ने ज्वाइंट ऑपरेशन कर एटीएम हैक कर करोड़ों रुपये   निकालने वाले गैंग के 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। एसएसपी गाजियाबाद पवन कुमार ने बताया कि आरोपियों की पहचान शाहनवाज, सगीर, उमर, ज़मीर शेख और मेराज के रूप में हुई है। उन्होंने बताया कि आरोपी शाहनवाज और उसका एक साथी कमल BCA पास है जबकि सगीर 11 वीं कक्षा तक ही पढ़ा है। एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपियों ने बीती 13 जुलाई को इंदिरापुरम के न्याय खंड-1 क्षेत्र की Green Vista Society में स्थित Axis Bank के ATM  को हैक कर 7 लाख रुपये निकाले लिए थे। इस पर हितैची पेमेंट सर्विस कंपनी के मैनेजर हयात अली ने कोतवाली इंदिरापुरम में अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था। इस मामले की जांच के दौरान पुलिस ने इन पांचों आरोपियों को गिरफ्तार किया है। 

एसएसपी ने बताया कि आरोपियों ने 100 से अधिक घटनाओं को अलग-अलग राज्यों करने की बात कबूल की है। गिरोह का सरगना कमल समेत कुल 4 सदस्य अभी फरार हैं जिसकी तलाश की जा रही है।  गिरफ्तार आरोपी सगीर शातिर वाहन चोर गैंग का सक्रिय सदस्य है और वह अब तक 200 से ज्यादा कारें चुरा चुका है। इस पर  28 से ज्यादा मुकदमे पहले से ही दर्ज हैं। गिरफ्तार दो आरोपी उत्तराखंड के रुड़की से पहले भी जेल जा चुके हैं।

ऐसे करते थे एटीएम हैक
पुलिस ने बताया कि आरोपी Axis और Tata Indicash ATM मशीन की विंडो को पेन ड्राइव लगाकर Jackpot ISO सॉफ्टवेयर डालकर एटीएम मशीन हैक कर लेते थे। फिर Wicker एप्लीकेशन का उपयोग करते हुए कोडिंग भेजकर एटीएम के अंदर खड़े अपने साथियों के माध्यम से रुपये निकाल लेते थे। पुलिस ने आरोपियों के पास से 10 मोबाइल फोन, एक सिम कार्ड,2 कार, एक बुलेट मोटरसाइकिल, 16 एटीएम कार्ड, एक लैपटॉप, कई पेन ड्राइव व मोहर समेत कई सामान बरामद किए हैं। पुलिस ने बताया की पूछताछ में गिरफ्तार आरोपियों ने अब तक एटीएम हैक कर करोड़ों रुपये निकालने की बात स्वीकार की है। पुलिस फरार आरोपियों की तलाश कर रही है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.