गाजियाबाद के इस अस्पताल में डॉक्टर को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, हरकत देख दंग रह जाओगे आप, महिला ने बयां किया दर्द

VIDEO : गाजियाबाद के इस अस्पताल में डॉक्टर को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, हरकत देख दंग रह जाओगे आप, महिला ने बयां किया दर्द

गाजियाबाद के इस अस्पताल में डॉक्टर को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, हरकत देख दंग रह जाओगे आप, महिला ने बयां किया दर्द

Social Media | एमएमजी अस्पताल

गाजियाबाद के इस अस्पताल में डॉक्टर को दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, हरकत देख दंग रह जाओगे आप, महिला ने बयां किया दर्द Ghaziabad : गाजियाबाद के सरकारी अस्पताल एमएमजी में एक हैरान और शर्मशार कर देने वाला मामला सामने आया है। एमएमजी अस्पताल में इलाज करवाने आई महिला की सहयोगी ने डॉक्टर के साथ जमकर मारपीट की। महिला ने डॉक्टर और अस्पताल पर गंभीर आरोप लगाए हैं। महिला का कहना है कि डॉक्टर अस्पताल के वार्ड में शराब पीकर पड़ा था। उसको होश नहीं था कि वह कहां पड़ा है।  
इमरजेंसी में कहा- यहां बेड नहीं 
गाजियाबाद पटेलनगर की रहने वाली ममता ने बताया कि वह अपने मरीज को लेकर एमएमजी अस्पताल पहुंची। मरीज की हालत काफी गंभीर है। उनके मरीज को टीवी की बीमारी है। हालत ज्यादा गंभीर होने पर वह अपने मरीज को सरकारी अस्पताल लेकर पहुंची। महिला की हालत ज्यादा गंभीर होने के कारण वह सरकारी अस्पताल के इमरजेंसी में लेकर गई लेकिन अस्पताल प्रशासन ने बोल दिया कि उनके पास कोई भी वार्ड खाली नहीं है। वह अपने मरीज को यहां से टीवी वार्ड में लेकर जाएं।

वार्ड में डॉक्टर साहब की हुई पिटाई
ममता ने आगे बताया कि जब वह अपने मरीज को लेकर टीवी वार्ड में गई तो वहां पर डॉक्टर शराब पीकर बैठा हुआ था। डॉक्टर को इतना भी होश नहीं था कि उसे यह पता हो कि मैं कहां हूं और कहां नहीं। डॉक्टर को उन्होंने होश में उठाने की कोशिश की लेकिन उसको कुछ पता ही नहीं था। इसके बाद उन्होंने डॉक्टर को चाटे मारकर उठाने की कोशिश की, उसके बावजूद भी डॉक्टर की आंखें नहीं खुली। यह देखकर उसने डॉक्टर के साथ मारपीट की। इसके अलावा उसके पास कोई कोई रास्ता नहीं था। एक तरफ मरीज जिंदगी और मौत से लड़ रहा है वहीं, दूसरी ओर डॉक्टर इतने लापरवाह हैं कि उनको कुछ पता ही नहीं है।

व्हील चेयर मांगी तो दिया यह जवाब
ममता का आरोप है कि जब उनके मरीज की हालत ज्यादा खराब हो गई तो उन्होंने अस्पताल प्रशासन से व्हील चेयर मांगी। इस पर अस्पताल के लोगों ने कहा कि पहले मरीज का आधार कार्ड दिखाओ। इसके बाद ही उसको व्हील चेयर मिलेगी। सरकारी अस्पताल की इतनी बुरी हालत है कि कोई सोच भी नहीं सकता। उनके मरीज की हालत इस समय बहुत गंभीर है लेकिन देखने वाला कोई नहीं है।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.