गाजियाबाद में कोरोना जांच के लिए सबसे बड़ा केंद्र बना एमएमजी अस्पताल

Updated Aug 03, 2020 11:43:44 IST | Rakesh Tyagi

कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच के लिए अब जिला एमएमजी अस्पताल सबसे बड़ा केंद्र बन गया है। अस्पताल में अब कोरोना...

गाजियाबाद में कोरोना जांच के लिए सबसे बड़ा केंद्र बना एमएमजी अस्पताल
Photo Credit:  Google Image
एमएमजी अस्पताल

कोरोना वायरस के संक्रमण की जांच के लिए अब जिला एमएमजी अस्पताल सबसे बड़ा केंद्र बन गया है। अस्पताल में अब कोरोना की सबसे अधिक जांच हो रही हैं। स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार गत तीन माह में करीब 30 हजार मरीज ओपीडी में पहुंचे हैं। इतना ही नहीं 12051 लोग की कोरोना जांच की गई है। इनमें से 898 लोग संक्रमित पाए गए हैं। रैपिड एंटीजन किट से 7719 लोगों की जांच की गई। इस जांच में 501 मरीज संक्रमित पाए गए हैं। बूथ पर की गई 3249 आरटी-पीसीआर जांच के सापेक्ष 232 की रिपोर्ट संक्रमित आई है। 

जिला एमएमजी अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. अनुराग भार्गव ने बताया कि जिला एमएमजी अस्पताल में त्रिस्तरीय कोरोना की जांच का इंतजाम है। इसमें रैपिड एंटीजन किट, आरटी-पीसीआर और टू नेट मशीन से जांच की जा रही है। कोरोना की जांच के लिए रोजाना कम से कम 10 स्थानों पर एनजीओ, आरडब्ल्यूए और सिविल डिफेंस के अनुरोध पर शिविर लगाए जा रहे हैं। 

सरकारी विभागों के आग्रह पर भी जांच शिविर लगाया जा रहा है। कोरोना की जांच के लिए एमएमजी अस्पताल में एक बूथ सुबह से शाम तक चलता है। इमरजेंसी में 24 घंटे कोरोना की जांच नि:शुल्क की जा रही हैं। वहीं,जिला एमएमजी अस्पताल अब राजेंद्रनगर स्थित कोविड एल-1 अस्पताल को कोविड एल-2 बनाने के लिए यहां से दो वेंटिलेटर देगा। 

जिलाधिकारी डॉ.अजय शंकर पांडेय एवं सीएमओ डॉ.एनके गुप्ता के निर्देश पर एमएमजी अस्पताल की दो पुरानी वेंटिलेटर मशीनों को राजेंद्रनगर भेजा जाएगा। सीएमएस डॉ. अनुराग भार्गव ने बताया कि राजेंद्रनगर ईएसआईसी कोविड एल-1 में एल-2 के 20 मरीजों को यहां पर भर्ती कराया गया है। मोदीनगर में दिव्य ज्योति संस्थान समेत दो अन्य कोविड एल-1 अस्पतालों को भी एल-2 में बदलने पर मंथन चल रहा हैं। होम आइसोलेशन की मंजूरी मिलने के बाद जिले में लक्षण रहित मरीजों की संख्या घट गई है। करीब 150 मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा गया है। करीब 250 का उपचार 10 निजी अस्पतालों में चल रहा है। ऐसे में एल-2 और एल-3 श्रेणी के मरीजों को ही अस्पतालों में भर्ती किया जा रहा है। 

ईएसआइसी को कोविड एल-1 से एल-2 में बदला जा रहा है। इसलिए संसाधन पूरे होने तक एल-1 और एल-2 श्रेणी के मरीजों को भर्ती किया जाएगा। एमएमजी अस्पताल को चार नई वेंटिलेटर मशीन मिल गई हैं। केंद्र सरकार की ओर से वेंटिलेटर उपलब्ध कराई गई है। दो वेंटिलेटर मशीन ईएसआइसी अस्पताल को दी जाएगी।

Ghaziabad MMG Hospital, MMG Hospital, Ghaziabad Hospital

Most Viewed

नोएडा
नोएडा: ड्राइंगरूम में बैठा था परिवार, छत भरभराकर गिरी, शहर की पॉश हाउसिंग सोसायटी में हादसा
नोएडा: ड्राइंगरूम में बैठा था परिवार, छत भरभराकर गिरी, शहर की पॉश हाउसिंग सोसायटी में हादसा
ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा को केंद्र सरकार ने दिया बड़ा तोहफा, देश के चुनिंदा 11 शहरों में शुमार होगा, पढ़िए पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा को केंद्र सरकार ने दिया बड़ा तोहफा, देश के चुनिंदा 11 शहरों में शुमार होगा, पढ़िए पूरी खबर
यमुना सिटी
बड़ी खबर: जेवर एयरपोर्ट की जमीन से गुजरने वाली 4 नहरों की शिफ्टिंग शुरू, पढ़िए पूरी खबर
बड़ी खबर: जेवर एयरपोर्ट की जमीन से गुजरने वाली 4 नहरों की शिफ्टिंग शुरू, पढ़िए पूरी खबर
ग्रेटर नोएडा वेस्ट
Greater Noida West BIG BREAKING: सोसाइटी में घुसकर प्रॉपर्टी डीलर को गोलियों से भूना, मौके पर ही मौत, साथी गंभीर रूप से घायल
Greater Noida West BIG BREAKING: सोसाइटी में घुसकर प्रॉपर्टी डीलर को गोलियों से भूना, मौके पर ही मौत, साथी गंभीर रूप से घायल
ग्रेटर नोएडा
ग्रेटर नोएडा: शेर सिंह भाटी हत्याकांड ने तूल पकड़ा, शुक्रवार को दादरी में महापंचायत, भाजपा नेता ने कहा- अख़लाक़ के लिए रोने वालों ये हमारा भाई है
ग्रेटर नोएडा: शेर सिंह भाटी हत्याकांड ने तूल पकड़ा, शुक्रवार को दादरी में महापंचायत, भाजपा नेता ने कहा- अख़लाक़ के लिए रोने वालों ये हमारा भाई है