पौधों के नाम पर रखे जाएंगे इन 3 सड़कों के नाम, 3 कमर्शियल कॉम्प्लेक्स खास अंदाज में बनेंगे

बदलता नोएडा : पौधों के नाम पर रखे जाएंगे इन 3 सड़कों के नाम, 3 कमर्शियल कॉम्प्लेक्स खास अंदाज में बनेंगे

पौधों के नाम पर रखे जाएंगे इन 3 सड़कों के नाम, 3 कमर्शियल कॉम्प्लेक्स खास अंदाज में बनेंगे

Google Image | प्रतीकात्मक फोटो

पौधों के नाम पर रखे जाएंगे इन 3 सड़कों के नाम, 3 कमर्शियल कॉम्प्लेक्स खास अंदाज में बनेंगे Noida News : शहर को हरा-भरा बनाने के लिए नोएडा अथॉरिटी (Noida Authority) ने एक खास प्रोजेक्ट पर काम शुरू किया है।हरियाली के हिसाब से अलग-अलग स्थानों पर तीन मॉडल रोड बनाई जाएंगी। इन सड़कों को वहां रोपित किए जाने वाले पौधों के नाम से जाना जाएगा। नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु महेश्वरी (Ritu Maheshwari IAS) ने बताया कि इन सड़कों को जल्दी फाइनल किया जाएगा। इसके बाद जल्द काम शुरू करवाया जाएगा। इसके अलावा तीन जगह एक-एक व्यावसायिक एरिया को उद्यानिक रूप में विकसित किया जाएगा। मंगलवार को समीक्षा बैठक के दौरान सीईओ रितु मोहश्वरी ने यह आदेश दिए हैं। उन्होंने कालिंदी कुंज के पास बनने वाले वेस्ट टू वंडर पार्क का प्रस्ताव प्रस्तुत करने का आदेश भी दिया है।

सीएसआर के जरिए पौधारोपण करने वाली कंपनियों को अच्छी जगह मिलेगी
बैठक में सीईओ ने कहा कि मानसून से पहले पौधारोपण के लिए जो स्थान चिन्हित किए गए हैं, वह उचित नहीं हैं। इसके लिए बड़ी ग्रीन बेल्ट और पार्क चिन्हित किए जाएं। यह काम शुक्रवार तक पूरा कर लिया जाए। इस रिपोर्ट के साथ फोटो देने होंगे। जो कम्पनियां सीएसआर के तहत पौधारोपण करना चाहती हैं, उनको चयनित करके अच्छी जगह उपलब्ध कराई जाए। सीईओ ने कहा कि पौधारोपण में पर्यावरण फ्रेंडली पौधे लगाए जाएं। पौधों का चयन करते वक्त स्थानीय मौसम के अनुसार प्रजातियों का ध्यान रखा जाएगा। अनुपयोगी पौधारोपण नहीं किया जाना चाहिए। पौधारोपण के मामले में बायोडायवर्सिटी महत्वपूर्ण होती है।

शिवालिक पार्क, वेद वन और डॉग पार्क जल्दी बनकर तैयार होंगे
शहर के सेक्टर-33 में बन रहे शिवालिक पार्क का काम 30 मई तक और डॉग पार्क का काम 30 जून तक पूरा करने का आदेश मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने दिया है। वेदवन पार्क का काम 15 अगस्त तक पूरा करने के लिए सीईओ ने कहा है। शहर में कुछ जगह जरूरत के हिसाब से नए पार्कों का प्रस्ताव तैयार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पार्कों से जुड़े काम के लिए प्रशिक्षित कर्मचारी लगाए जाएं। अगर प्रशिक्षित नहीं हैं तो उन्हें काम पर रखने से पहले बेहतर तरीके से काम करने का प्रशिक्षण दिलवाया जाए।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.