Ritu maheshwari ceo

नोएडा प्राधिकरण के तीन अधिकारी कोविड-19 पॉजिटिव, 2 दिन के लिए ऑफिस बंद
नोएडा

नोएडा प्राधिकरण के तीन अधिकारी कोविड-19 पॉजिटिव, 2 दिन के लिए ऑफिस बंद

नोएडा और ग्रेटर नोएडा में कोरोना वायरस लोगों को परेशान किए हुए हैं। रोजाना बड़ी संख्या में नए संक्रमित लोग सामने आ रहे हैं। ऐसे में नोएडा विकास प्राधिकरण...

More Stories

GOOD NEWS : नोएडा अथॉरिटी और सीईओ के ट्वीटर हैंडल हुए वेरिफाइड, देश में ऐसा पहला औद्योगिक प्राधिकरण
GOOD NEWS : नोएडा अथॉरिटी और सीईओ के ट्वीटर हैंडल हुए वेरिफाइड, देश में ऐसा पहला औद्योगिक प्राधिकरण
नोएडा अथॉरिटी और इसके मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) के ट्वीटर हैंडल वेरिफाइड हो गए हैं। अब देश और दुनिया में विकास प्राधिकरण के ट्वीटर हैंडल को मान्यता मिलेगी। शहर के लोग भी बेझिझक सुझाव दे सकते हैं और अपनी शिकायत प्राधिकरण तक पहुंचा सकते हैं। बड़ी बात यह कि देश में नोएडा ऐसा पहला औद्योगिक विकास प्राधिकरण बन गया है, जिसके पास वेरिफाइड ट्वीटर हैंडल है।
नोएडा प्राधिकरण को सम्मानित करेगी केंद्र सरकार, ये हैं शहर की दो बड़ी उपलब्धियां
नोएडा प्राधिकरण को सम्मानित करेगी केंद्र सरकार, ये हैं शहर की दो बड़ी उपलब्धियां
नोएडा प्राधिकरण को केंद्र सरकार का शहरी विकास एवं आवासन मंत्रालय 10 जनवरी को सम्मानित करेगा। यह सम्मान शहर को दो बड़ी उपलब्धियां हासिल करने के लिए दिया जाएगा। नोएडा शहर में डंपिंग साइट को अत्याधुनिक कूड़ा निस्तारण केंद्र के रूप में विकसित किया गया है। जिससे ठोस कूड़े के निस्तारण की बड़ी समस्या का समाधान हो गया है। दूसरी ओर नोएडा शहर की सड़कों पर 74 हजार स्ट्रीट लाइट्स को खत्म करके एलईडी बल्ब लगाए गए हैं, जिससे बिजली का बिल घटाने में मदद मिली है।
नोएडा में समस्याओं को लेकर फोनरवा का प्रतिनिधिमंडल सीईओ से मिला
नोएडा में समस्याओं को लेकर फोनरवा का प्रतिनिधिमंडल सीईओ से मिला
नोएडा विकास प्राधिकरण के कार्यालय में गुरुवार को फेडरेशन ऑफ नोएडा रेजिडेंट्स वेलफेयर एसोसिएशन (फोनरवा) के 19 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु माहेश्वरी से मुलाकात की। इस प्रतिनिधि मंडल ने सीईओ को शहर की समस्याओं से अवगत करवाया। फोनरवा अध्यक्ष योगेंद्र शर्मा ने बताया कि शहर में आवारा कुत्तों के काटने की घटनाएं दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही हैं।
यादव सिंह से क्यों डर रही है सीबीआई, सुप्रीम कोर्ट को दी जानकारी
यादव सिंह से क्यों डर रही है सीबीआई, सुप्रीम कोर्ट को दी जानकारी
नोएडा के पूर्व चीफ इंजीनियर यादव सिंह की जमानत याचिका पर सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है। सीबीआई ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से जमानत की मांग करने वाले यादव सिंह वरिष्ठ सरकारी अधिकारी थे। सीबीआई को डर है कि अगर यादव सिंह को सुप्रीम कोर्ट से जमानत दी तो वो साक्ष्यों को प्रभावित को प्रभावित कर सकते हैं।
यादव सिंह ने 15 दिनों में 136.09 करोड़ रुपये जमा नहीं किये तो होगी संपत्ति जब्त
यादव सिंह ने 15 दिनों में 136.09 करोड़ रुपये जमा नहीं किये तो होगी संपत्ति जब्त
नोएडा विकास प्राधिकरण के पूर्व चीफ इंजीनियर यादव सिंह के लिए  आयकर विभाग ने  136.09 करोड़ रुपये जमा करने के लिए 15 दिन का समय दिया है। इतना ही नहीं अगर इस समय अवधि में यादव सिंह ने यह रुपए जमा नहीं किये तो संपत्ति जब्त कर ली जायेगी।
यादव सिंह से क्यों डर रही है सीबीआई, सुप्रीम कोर्ट को दी जानकारी
यादव सिंह से क्यों डर रही है सीबीआई, सुप्रीम कोर्ट को दी जानकारी
नोएडा के पूर्व चीफ इंजीनियर यादव सिंह की जमानत याचिका पर सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया है। सीबीआई ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से जमानत की मांग करने वाले यादव सिंह वरिष्ठ सरकारी अधिकारी थे। सीबीआई को डर है कि अगर यादव सिंह को सुप्रीम कोर्ट से जमानत दी तो वो साक्ष्यों को प्रभावित को प्रभावित कर सकते हैं।
यादव सिंह ने 15 दिनों में 136.09 करोड़ रुपये जमा नहीं किये तो होगी संपत्ति जब्त
यादव सिंह ने 15 दिनों में 136.09 करोड़ रुपये जमा नहीं किये तो होगी संपत्ति जब्त
नोएडा विकास प्राधिकरण के पूर्व चीफ इंजीनियर यादव सिंह के लिए  आयकर विभाग ने  136.09 करोड़ रुपये जमा करने के लिए 15 दिन का समय दिया है। इतना ही नहीं अगर इस समय अवधि में यादव सिंह ने यह रुपए जमा नहीं किये तो संपत्ति जब्त कर ली जायेगी।
स्वतन्त्रता दिवस की पूर्व संध्या पर नोएडा शहर को मिला खूबसूरत तोहफा
स्वतन्त्रता दिवस की पूर्व संध्या पर नोएडा शहर को मिला खूबसूरत तोहफा
NOIDA : स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर नोएडा द्वार से एक्सप्रेस-वे तक 100 बिजली के खंभों को तिरंगी एलईडी लाइटों से सजाया गया है। रात करीब 10:00 बजे नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी ने ट्वीट करके जानकारी दी। उन्होंने लिखा कि नोएडा गेट से लेकर एक्सप्रेस-वे तक बिजली के सभी खंभों को तिरंगी रोशनी की एलईडी लाइटों से सजाया जा रहा है। अब नोएडा यहां आने वाले लोगों का तिरंगी रोशनी से स्वागत करेगा।
भाई-बेटा न्याय मांगते मर गए, दो बेटी विकलांग हैं और मैं आईसीयू में हूं, नोएडा के किसान ने सीईओ को पत्र लिखकर दर्द बयां किया
भाई-बेटा न्याय मांगते मर गए, दो बेटी विकलांग हैं और मैं आईसीयू में हूं, नोएडा के किसान ने सीईओ को पत्र लिखकर दर्द बयां किया
NOIDA : देश की राजधानी से सटा नोएडा शहर, जिसे उत्तर प्रदेश सरकार शोविंडो बोलती है। जहां पिछले 5 वर्षों के दौरान देश का सबसे ज्यादा विदेशी निवेश हुआ है, सबसे ज्यादा मोबाइल और आईटी कंपनियों ने कारखाने लगाए हैं, संसद में सरकार यह जानकारी देते हुए फख्र महसूस करती है। लेकिन, जिस जमीन पर यह कारखाने लगे हैं और उपलब्धियां हासिल हुई हैं, उस जमीन के मालिक किसान का हाल क्या है, यह एक चिट्ठी बयां करती है। नोएडा शहर के बीचोंबीच बरौला गांव के किसान ने नोएडा की मुख्य कार्यपालक अधिकारी ऋतु महेश्वरी को स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर एक खत भेजा है। जिसमें उसने अपना दर्द बयां किया है।
कौन है ब्रजपाल चौधरी जिसने कब्जाई प्राधिकरण की अरबों की जमीन
कौन है ब्रजपाल चौधरी जिसने कब्जाई प्राधिकरण की अरबों की जमीन
यादव सिंह प्रकरण के बाद नोएडा प्राधिकरण सुर्खियों ब्रजपाल चौधरी के कारण ही आया था। आय से अधिक संपत्ति के मामले में आयकर विभाग ने प्राधिकरण के सहायक परियोजना अभियंता (एपीई) ब्रजपाल सिंह चौधरी के सेक्टर-27 स्थित नोएडा आवास, हापुड़ और फरीदाबाद सहित आठ ठिकानों पर एकसाथ छापा मारा था। उस सर्च अभियान के दौरान दिल्ली-एनसीआर में उसकी अकूत संपत्ति से संबंधित दस्तावेज जब्त किए गए थे।