ग्रेटर नोएडा में बनेगी देश की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक सिटी, जल्दी मंजूरी मिलेगी

Updated Dec 29, 2019 04:41:02 IST | Tricity Today Chief correspondent

देश की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक सिटी ग्रेटर नोएडा के पास यमुना एक्सप्रेस वे पर बनेगी। करीब 2,850 एकड़ में बनने वाली इलेट्रॉनिक सिटी को उत्तर प्रदेश सरकार की कैबिनेट जल्दी मंजूरी देगी। यह इलेक्ट्रॉनिक सिटी यमुना एक्सप्रेस वे पर जेवर एयरपोर्ट के पास बनाई जाएगी। आईटी व इलेक्ट्रॉनिक विभाग ने काम शुरू कर दिया है। यह देश की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक सिटी होगी और यहां से चार लाख से ज्यादा रोजगार पैदा होंगे।

ग्रेटर नोएडा में बनेगी देश की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक सिटी, जल्दी मंजूरी मिलेगी
Photo Credit: 

LUCKNOW/GREATER NOIDA: देश की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक सिटी ग्रेटर नोएडा के पास यमुना एक्सप्रेस वे पर बनेगी। करीब 2,850 एकड़ में बनने वाली इलेट्रॉनिक सिटी को उत्तर प्रदेश सरकार की कैबिनेट जल्दी मंजूरी देगी। यह इलेक्ट्रॉनिक सिटी यमुना एक्सप्रेस वे पर जेवर एयरपोर्ट के पास बनाई जाएगी। आईटी व इलेक्ट्रॉनिक विभाग ने काम शुरू कर दिया है। यह देश की सबसे बड़ी इलेक्ट्रॉनिक सिटी होगी और यहां से चार लाख से ज्यादा रोजगार पैदा होंगे।

अभी तक यूपी में केवल एक आईटी सिटी लखनऊ में 100 एकड़ पर बनी है। बीते दिनों ग्राउंड ब्रेक्रिंग सेरेमनी में उप मुख्यमंत्री डा.दिनेश शर्मा ने इलेक्ट्रॉनिक सिटी की घोषणा की थी। अभी तक बंगलुरू में इलेक्ट्रॉनिक सिटी है, जो 903 एकड़ में बनी है। वहां 156 कंपनियां काम कर रही हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि यूपी में बनने वाली इलेक्ट्रॉनिक सिटी कितनी बड़ी होगी। अधिकारियों के मुताबिक, इस इलेक्ट्रॉनिक सिटी का मास्टर प्लान यमुना एक्सप्रेस वे प्राधिकरण तैयार करेगा। इसके लिए जमीन  चिह्नित और अधिग्रहीत करने का काम अंतिम चरण में है। इसकी चारदीवारी जेवर एयरपोर्ट से मिली हुई होगी।

इलेक्ट्रॉनिक सिटी में चीन, ताईवान, सिंगापुर आदि देश अपने-अपने क्लस्टर (समूह) बनाएंगे। ये कम्पनी 100-200 एकड़ जमीन लेकर हर देश अपने मुताबिक विकसित करेगा। इसी जगह वह काम करेगा और रहने के लिए भी यहीं पर सुविधाएं जुटाएगा। यूपी में पहले ही ओपो, वीवो, सैमसंग, हायर जैसी कम्पनियां नोएडा और ग्रेटर नोएडा में अपनी कंपनियां लगा चुकी हैं। इसके बाद इनसे जुड़ी, हार्डवेयर और इनके लिए पुर्जे बनाने वाली कंपनियां भी भारत में निवेश के लिए आ रही हैं। इन सब कंपनियों को उनकी मांग के मुताबिक इलेक्ट्रॉनिक सिटी में जगह दी जाएगी।

प्राधिकरण ने दो सेक्टर रिजर्व किए
यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने आईटी सिटी के लिए दो सेक्टर रिजर्व कर रखे हैं। सेक्टर 21 और सेक्टर 24 में यह जमीन रिजर्व करके रखी गई है। कई अंतरराष्ट्रीय कम्पनियां यहां अपनी इकाई स्थापित करने के लिए प्राधिकरण को प्रस्ताव भी दे चुकी हैं।

आईटी और इलेक्ट्रॉनिक्स में हम अन्य राज्यों से काफी आगे निकल गए हैं। यमुना एक्सप्रेस वे पर प्रस्तावित इलेक्ट्रॉनिक सिटी प्रदेश में युवाओं को खूब रोजगार उपलब्ध कराएगी। अगले 5 सालों में आईटी व इलेक्ट्रॉनिक में चार लाख से ज्यादा रोजगार पैदा होंगे।
-डॉ. दिनेश शर्मा, उप मुख्यमंत्री

Largest electronic city, electronic city in greater noida, electronic city on yamuna expressway, yamuna expressway authority, YEIDA, Greater Noida Authority