यमुना एक्सप्रेसवे देश का पहला इलेक्ट्रिक वेहिकल कॉरिडोर बनेगा, दिल्ली से आगरा तक मिलेंगी ख़ास सुविधाएं

बड़ी खबर : यमुना एक्सप्रेसवे देश का पहला इलेक्ट्रिक वेहिकल कॉरिडोर बनेगा, दिल्ली से आगरा तक मिलेंगी ख़ास सुविधाएं

यमुना एक्सप्रेसवे देश का पहला इलेक्ट्रिक वेहिकल कॉरिडोर बनेगा, दिल्ली से आगरा तक मिलेंगी ख़ास सुविधाएं

Tricity Today | यमुना एक्सप्रेसवे देश का पहला इलेक्ट्रिक वेहिकल कॉरिडोर बनेगा

यमुना एक्सप्रेसवे देश का पहला इलेक्ट्रिक वेहिकल कॉरिडोर बनेगा, दिल्ली से आगरा तक मिलेंगी ख़ास सुविधाएं Delhi-NCR News : नोएडा, ग्रेटर नोएडा और दिल्ली समेत पूरे एनसीआर के लोगों के लिए बड़ी खबर है। यमुना एक्सप्रेसवे (Yamuna Expressway) देश का पहला इलेक्ट्रिक वेहिकल कॉरिडोर बनने जा रहा है। लोगों को दिल्ली से आगरा तक ख़ास सुविधाएं मिलेंगी। सार्वजनिक इलेक्ट्रिक वाहन के लिए ई-कॉरिडोर के रूप में यमुना एक्सप्रेसवे पर ट्रायल रन किए जा चुके हैं। जानकारी मिली है कि 25 दिसंबर को यह प्रोजेक्ट अमल में आ जाएगा।

एक साल पहले सफल ट्रायल रन हो चुके
पिछले साल 25 मई को दिल्ली के इंडिया गेट से आगरा तक बैटरी से चलने वाले वाहनों के ट्रायल रन को हरी झंडी दिखाई गई थी। ट्रायल रन का मुख्य उद्देश्य यमुना एक्सप्रेसवे पर चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर, सड़क के किनारे सहायता और सेवा पर ध्यान केंद्रित करना था। दरअसल, यमुना एक्सप्रेसवे की बदौलत दिल्ली और आगरा के बीच यात्रा के समय में काफी कमी आई है। यह पर्यटकों के बीच एक लोकप्रिय मार्ग है।

एक चार्ज में 340 किमी चले थे वाहन
ट्रायल रन में भाग लेने वाली कम्पनी एमजी मोटर थी। कम्पनी के इलेक्ट्रिक वेहिकल एक बार चार्ज करने पर 340 किलोमीटर चले थे। माना गया कि कम्पनी के जेडएस ईवी जैसे वाहन दिल्ली-आगरा के बीच यात्रा के लिए आदर्श हैं। आपको बता दें कि भारत सरकार इलेक्ट्रिक वाहनों का समर्थन करने के लिए अपने बुनियादी ढांचे को बढ़ा रही है। बड़े शहरों में चार्जिंग स्टेशन स्थापित कर दिए गए हैं। अब देश राजमार्गों पर चार्जिंग की आवश्यकता महसूस की जा रही है।

69,000 ईंधन पंपों पर चार्जिंग स्टेशन
सड़क, परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बताया था कि केंद्र सरकार देश में 69,000 ईंधन पंपों पर कम से कम एक ईवी चार्जिंग स्टेशन बना रही है। बैटरी चार्जिंग इकोसिस्टम बहुत महत्वपूर्ण है। सरकार लोगों को इलेक्ट्रिक मोबिलिटी के लिए प्रेरित कर रही है। उन्होंने हाल में एक और बड़ा बयान दिया था। गड़करी ने कहा था, "अगले दो सालों में इलेक्ट्रिक वेहिकल्स और डीजल वेहिकल्स की कीमत बराबर हो जाएंगी। अगले दो वर्षों में लोग बिजली से चलने वाले वाहनों को खरीदना ज्यादा पसंद करेंगे।"

नोएडा-ग्रेटर नोएडा को बड़ा फायदा
यमुना एक्सप्रेसवे पर मिलने वाली इस सुविधा से नोएडा और ग्रेटर नोएडा में इलेक्ट्रिक कारों का चलन तेजी से बढ़ेगा। अकेले ग्रेटर नोएडा शहरों में 100 चार्जिंग स्टेशन बनाने की योजना पर काम चल रहा है। कारों में चार्जिंग का खर्चा 5 रुपये प्रति यूनिट लिया जाएगा। दोपहिया वाहनों में 4.50 रुपये प्रति यूनिट चार्जिंग रेट निर्धारित किए गए हैं।

अन्य खबरे

Copyright © 2021 - 2022 Tricity. All Rights Reserved.