जेवर और आईजीआई के बीच फर्राटा भरने के लिए एलिवेटेड रोड होगी, नॉनस्टॉप होगा सफर, कुछ और खास जानकारी

Updated Jun 29, 2020 22:19:48 IST | Tricity Reporter

जेवर में प्रस्तावित नोएडा इंटरनेशन एयरपोर्ट जेवर को दिल्ली-एनसीआर और पश्चिम उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों से जुड़ने के लिए यमुना एक्सप्रेस...

जेवर और आईजीआई के बीच फर्राटा भरने के लिए एलिवेटेड रोड होगी, नॉनस्टॉप होगा सफर, कुछ और खास जानकारी
Photo Credit:  Google Image
प्रतीकात्मक फोटो

जेवर में प्रस्तावित नोएडा इंटरनेशन एयरपोर्ट जेवर को दिल्ली-एनसीआर और पश्चिम उत्तर प्रदेश के तमाम जिलों से जुड़ने के लिए यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने काम तेज कर दिया है। प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालक अधिकारी डॉ अरुण वीर सिंह ने रविवार को जानकारी दी थी कि एयरपोर्ट को गंगा एक्सप्रेस वे से जोड़ा जाएगा। अब सोमवार को सीईओ ने बताया है कि जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट से से नई दिल्ली के इंदिरा गांधी एयरपोर्ट तक एलिवेटेड रोड बनाने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार सहमत हो गई है।

करीब 50 किलोमीटर लंबी यह सड़क चार लेन की होगी। अब इसको लेकर यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण जल्द ही केंद्रीय परिवहन मंत्रालय से वार्ता करेगा। जिससे इसकी डीपीआर बनवाई जा सके। वहीं, दोनों इंटरनेशनल एयरपोर्ट को रैपिड रेल से भी जोड़ने के लिए रूट का सर्वे जल्द शुरू होगा।

जेवर एयरपोर्ट की टीईएफआर (टेक्निकल फिजबिलिटी रिपोर्ट) में यह बात सामने आई थी कि जेवर से सफर करने वाले 41 फीसदी यात्री दिल्ली से आएंगे। वित्त वर्ष 2022-23 में सालाना 60 लाख यात्रियों से एयरपोर्ट की शुरुआत होनी है। इस लिहाज से शुरुआती दिनों में सफर करने वाले कुल यात्रियों में से करीब 24 लाख यात्री दिल्ली से ही होंगे। इसको देखते हुए जेवर और दिल्ली को जोड़ने के लिए मॉडल कनेक्टिविटी पर जोर दिया गया है। दोनों एयरपोर्ट के बीच मेट्रो, रैपिड रेल और एलिवेटेड रोड बनाने की योजना बनी है। 

यमुना प्राधिकरण ने इसके लिए सर्वे शुरू कर दिया है। सरकारी संस्था राइटस एलिटवेटेड रोड के लिए सर्वे कर रही है। वहीं, प्रदेश सरकार भी एलिवेटेड रोड बनाने के लिए राजी हो गई है। अब यह साफ हो गया है कि दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट और जेवर के नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बीच एलिवेटेड रोड बनेगी।

चार लेन की होगी यह एलिवेटेड रोड

प्रारंभिक रिपोर्ट के मुताबिक एलिवेटेड रोड करीब 50 किलोमीटर लंबी होगी। यह चार लेन की होगी। अब इसको लेकर जल्दी यमुना प्राधिकरण केंद्रीय परिवहन मंत्रालय से संपर्क करेगा, ताकि इस पर आगे बढ़ा जा सके। यमुना यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिरकण के सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया कि जेवर एयरपोर्ट की मल्टी मॉडल कनेक्टिविटी की जाएगी। ताकि यहां तक लोग आसानी से पहुंच सकें।

जेवर एयरपोर्ट को शानदार कनेक्टिविटी मिलेगी

जेवर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को बहुत शानदार कनेक्टिविटी मिलेगी। यह एयरपोर्ट यमुना एक्सप्रेस वे पर बन रहा है। पूरे दिल्ली-एनसीआर को जोड़ने वाले ईस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस वे से इसकी दूरी महज 15 किलोमीटर है। नेशनल हाईवे-91, गंगा एक्सप्रेस वे, मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस वे, रिंग रेलवे, दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर और अमृतसर-कोलकाता फ्रेट कॉरिडोर जेवर एयरपोर्ट के चारों ओर से होकर गुजर रहे हैं।

Jewar International Airport, Indira Gandhi International Airport, Noida International Airport, Jewar Airport, Jewar Assembly Constituency, Noida, Noida News, Greater Noida, Greater Noida News, Uttar Pradesh, Uttar Pradesh News, UP News, Yamuna Expressway Industrial Development Authority, YEIDA, CEO YEIDA, Dr Arunvir Singh IAS, Ganga Expressway, Gautam Buddh Nagar, Gautam Buddh nagar News, GB Nagar, Multi Model Transport System, Indian Railways, Eastern Peripheral Expressway, Western Peripheral Expressway, Delhi-NCR